ताज़ा खबर
 

6 महीनों में RBI ने रेपो रेट में की135 बेसिस प्वाइंट की कटौती, कोरोना संकट की वजह से देखने पड़ सकते हैं बड़े NPA, गवर्नर ने चेताया

एसबीआई की ओर से आयोजित 7वीं एसबीआई एंड इकॉनोमिक्स वर्चुअल कॉन्क्लेव में बोलते हुए दास ने कहा कि कोरोना के कारण पैदा हुए संकट से वित्तीय सिस्टम को बचाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं।

shaktikant das, RBI, REPO RATE, COVID19आरबीआई के गवर्नर शक्तिकांत दास। (एएनआई इमेज)

आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने बताया है कि फरवरी 2019 से लेकर अब तक कोरोना वायरस माहमारी से पहले तक हमने रेपो रेट में 135 बेसिस पॉइंट की कटौती की है। कोविड 19 संकट से उबरने के लिए बैंक अब तक 1.15 बेसिस पॉइंट की और कटौती कर चुका है। विकास दर की धीमी गति से निपटने के लिए ऐसा किया गया है। इस तरह आरबीआई ने फरवरी 2019 से अब तक कुल 2.50 पॉइंट की कटौती की है। आरबीआई गवर्नर ने ये भी कहा कि कोरोना वायरस माहमारी के चलते एनपीए में बढ़ोत्तरी हो सकती है। दास के अनुसार, कोविड 19 बीते 100 साल का सबसे बड़ा स्वास्थ्य और आर्थिक संकट है और इसका उत्पादन और नौकरियों पर नकारात्मक असर पड़ेगा।

एसबीआई की ओर से आयोजित 7वीं एसबीआई एंड इकॉनोमिक्स वर्चुअल कॉन्क्लेव में बोलते हुए दास ने कहा कि कोरोना के कारण पैदा हुए संकट से वित्तीय सिस्टम को बचाने के लिए कई कदम उठाए जा रहे हैं। शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना के कारण ग्लोबल वैल्यू चेन, लेबर और कैपिटल मूवमेंट को झटका लगा है। दास के अनुसार, बेसिस प्वाइंट में यह कटौती लिक्विडिटी तनाव को कम करने और अर्थव्यवस्था को स्थिरता प्रदान करने के लिए की गई है।

कॉन्कलेव के दौरान शक्तिकांत दास ने कहा कि कोरोना माहमारी हमारी आर्थिक और वित्तीय प्रणाली की मजबूती और लचीलेपन की सबसे बड़ी परीक्षा ले रही है। RBI ने उभरते खतरों की पहचान के लिए अपने ऑपसाइट सर्विलांस मैकेनिज्म को मजबूत किया है। उन्होंने कहा कि पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक की समस्या को दूर करने केलिए आरबीआई सभी हितधारकों से बातचीत कर रहा है।

बता दें कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक पंजाब एंड सिंध बैंक ने उसके दो फंसे कर्ज के खातों में 112.42 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी होने की जानकारी दी है। ये खाते महा एसोसिएटिड होटल्स और एडयार जिंक के बताए जा रहे हैं। बैंक ने शेयर बाजार को बताया है कि महा एसोसिएटिड होटल्स प्राइवेट लिमिटेड से संबंधित खाते में 71.18 करोड़ रुपए का बकाया है। वर्तमान में महा एसोसिएटिड होटल्स का मामला एनसीएलटी में लंबित है। आरबीआई ने आशंका जाहिर की है कि कोरोना वायरस माहमारी के चलते एनपीए का बोझ बढ़ सकता है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 वॉरेन वफे से भी अमीर हुए मुकेश अंबानी, मार्च के बाद रिलायंस के शेयर में दोगुनी बढ़त, तोड़े रिकॉर्ड
2 नेपाल ने 56 में से 38 फाटक खोले, उत्तर बिहार में बाढ़ का खतरा मंडराया, आधा दर्जन जिलों में हाई रिस्क, भारी बारिश की भी चेतावनी
3 चीन से तनातनी के बीच IAF ने बढ़ाई ताकत, अमेरिकी कंपनी बोइंग ने सौंपे पांच नए अपाचे हेलिकॉप्टर
ये पढ़ा क्या...
X