RBI allowed firms to pay employees through prepaid cards - - Jansatta
ताज़ा खबर
 

प्रीपेड कार्ड्स के जरिए मिलेगी सैलरी, सरकार के बाद RBI ने दिया आदेश

आरबीआई ने कंपनियों को प्रीपेड कार्ड के जरिए सैलरी देने की इजाजत दे दी है, जिसके बाद डिजिटल माध्यम के जरिए भुगतान करने का नया विकल्प तैयार हो गया है।

खरीदारी के दौरान डेबिट कार्ट का इस्तेमाल करता एक उपभोक्ता। (तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर, फाइल फोटो)

नोटबंदी की वजह से हुई कैश की कमी को ध्यान में रखते हुए आरबीआई ने सभी कंपनियों को प्रीपेड कार्ड्स के जरिए कर्मचारियों को सैलरी देने की सुविधा दी है। इससे पहले यह सुविधा सिर्फ कुछ कंपनियों के पास ही थी। कंपनियों को नई सुविधा मिलने से कर्मचारियों को उनके पैसे का भुगतान करने में आसानी होगी। आरबीआई ने यह फैसला 27 दिसंबर 2016 को लिया है। इस सुविधा का लाभ पार्टनरशिप फर्म्स, प्रॉपराइटर, पब्लिक ऑरगेनाइजेशन्स जैसे कि मुन्सिपल कॉर्पोरेशन जैसे संस्थान उठा सकेंगे। वहीं इस सुविधा का लाभ लेने के लिए लोगों को जिस फर्म को भुगतान करने की सुविधा दी जाएगी उनके बैंक खाते होना जरूरी होगा। इसके अलावा पेमेंट करने में इम्प्लॉयर की जिम्मेदारी होगी कि वह भुगतान करने वाले की सही से वेरिफिकेशन करे। गौरतलब है कि नोटबंदी के बाद सरकार ने कैशलेस सोसाइटी की वकालत करते हुए डिजिटल पेमेंट्स के जरिए लेनदेन करने पर जोर दिया है।

ऐसे में आरबीआई का यह कदम लोगों के लिए डिजिटल पेमेंट की एक और नई सुविधा देगा। प्रीपेड कार्ड एक तरह से एटीएम कार्ड की तरह ही होता है। यह कार्ड खाते से सीधे लिंक नहीं होता इसलीए इसके हैक होने का खतरा भी नहीं होता। बैंकों के प्रीपेड कार्ड का प्रयोग करने वालों के लिए खतरा कम है।सरकारी और गैर-सरकारी संस्थानों में कैश की किल्लत को देखते हुए एडवांस सैलरी का सिलसिला शुरू किया ह है। ऐसे में सरकार की कोशिश है कि कैश की जगह प्रीपेड कार्ड से सैलरी दी जाए। प्रीपेड कार्ड आप अपने सैलरी अकाउंट वाले बैंक से प्राप्त कर सकते हैं।

देखें वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App