ताज़ा खबर
 

रवीश कुमार बोले- मुझे दुख है अपने प्रधानमंत्री पर, वो चाहें तो मुझे फॉलो कर लें, कभी अपमान नहीं करूंगा

रवीश कुमार ने कहा कि सोशल मीडिया और ट्विटर टाइमलाइन पर हत्यारों का या हत्या की मानसिकता का समर्थन करने वालों का एक हुजूम उमड़ा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फाइल फोटो (फोटो सोर्स एपी)

कन्नड़ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में नई दिल्ली स्थित प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में आयोजित शोक सभा में बोलते हुए पत्रकार रवीश कुमार ने कर्नाटक की सिद्धारमैया सरकार से पूछा कि वो इस हत्या की जांच करेंगे कि नहीं? रवीश कुमार ने कहा कि सिद्धारमैया चाहते  तो वो एमएम कलबुर्गी की हत्या की जांच को पेशेवराना अंदाज में एक नतीजे पर पहुंचा सकते थे लेकिन उन्होंने नहीं पहुंचाया। रवीश कुमार ने कहा कि नरेंद्र दाभोलकर और गोविंद पानसरे की हत्या की जांच के मामले में महाराष्ट्र की बीजेपी सरकार का भी रवैया वही है। रवीश कुमार ने कहा, “सोशल मीडिया और ट्विटर टाइमलाइन पर हत्यारों का या हत्या की मानसिकता का समर्थन करने वालों का एक हुजूम उमड़ा। जो बिना किसी शर्म-संकोच के इस हत्या को तरह-तरह के सवालों का राइडर लगाकर जायज ठहराता रहा।  हर सवाल का जवाब इस हत्या से उसे पहले चाहिए।” रवीश कुमार ने गौरी लंकेश की हत्या के बाद ट्विटर पर एक यूजर्स द्वारा गाली-गलौज के प्रयोग पर भी बोला। इस व्यक्ति को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्विटर पर फॉलो करते हैं जिसकी चर्चा मीडिया में छाई रही।

रवीश कुमार ने कहा, “प्लीज प्रधानमंत्री से रिक्वेस्ट कीजिए कि वो ऐसे लोगों को फॉलो न करें, अगर कोई नहीं मिलता उन्हें हिंदुस्तान में तो मुझे फॉलो कर लें, मैं उन्हें आश्वासन देता हूं कि बहुत आदर से आलोचना करूंगा, उन्हें कभी नहीं लगेगा कि मैंने उनका अपमान किया है, बहुत अच्छी कविताएं सुनाऊँगा, हिंदू धर्म के बहुत सारे श्लोक सुनाऊंगा, उनको लगेगा नहीं कि वो एक ऐसा हिंदुस्तान में हैं जहां उनकी कोई कद्र नहीं करता है, मैं उन्हें पूरापूरा सम्मान दूंगा लेकिन वो इस बात का जवाब देंगे, अब कोई भी स्त्रियों के बारे में स्लोगन लिखने या गाने से पहले वो इस बात का जवाब देंगे कि उनकी सोहबत में दधीचि जैसे नौजवान कैसे आ गये? और जब वो आते हैं 1700 के क्लब में तो वो उस लड़के से भी पूछें कि तुमने मेरी मर्यादा का ख्याल क्यों नहीं रखा?”  रवीश कुमार ने कहा, “जब इस तरह के लोग प्रधानमंत्री की मर्यादा का ख्याल नहीं रख सकते तो वो सोचिए कि बावालों और पागलों की फौज हमारे बीच तैयार हो गयी है, वो आपको अकेले में भी घेरकर मारेगी और जहाँ आप हजार की संख्या में हैं वहाँ भी घेरकर मारेगी….”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App