कोरोनाः जब कोर्ट में सुनवाई चल रही थी, तब PM पंचायती राज पुरस्कार बांट रहे थे, महानता अमर-अतुलनीय है- ऑक्सीजन की कमी पर रवीश कुमार का कड़ा कटाक्ष

मीडिया पर तंज करते हुए रवीश कुमार ने लिखा कि ऑक्सीज़न की कमी की ख़बर को मीडिया ने कैसे कवर किया यह इतिहास में जाने दीजिए। आपके बस की बात नहीं है। वैसे भी आप तक ऐसी ख़बरें कम पहुंच रही होंगी।

ravish kumar, west bengal elections, narendra modi liesNDTV के रवीश कुमार ने पीएम Narendra Modi पर निशाना साधा है। (फोटो: Social Media)

देश में जारी कोरोना संकट के बीच सरकार की फजीहत हो रही है। सोशल मीडिया पर लोग सरकार की कमियों को बता रहे हैं। ऑक्सीजन, बेड और दवा की कमी से कई लोगों की मौत हुई है। जाने-माने पत्रकार रवीश कुमार ने फेसबुक पोस्ट लिखकर प्रधानमंत्री पर हमला बोला है। उन्होंने लिखा है कि जब कोर्ट में सुनवाई चल रही थी, तब PM पंचायती राज पुरस्कार बांट रहे थे, महानता अमर-अतुलनीय है।

रवीश कुमार ने तंज करते हुए लिखा कि जिस वक़्त कोर्ट में सुनवाई चल रही थी उस वक़्त प्रधानमंत्री पंचायती राज पुरस्कार बांट रहे थे। राष्ट्रीय विपदा के वक़्त भी पुरस्कार बांटने के राष्ट्रीय कर्तव्य पर डटे हुए थे। उनकी महानता अमर है। अतुलनीय है। कोई दूसरा कमज़ोर प्रधानमंत्री होता तो अस्पताल के बाहर चला गया होता। दिल्ली के कई छोटे- बडे़ अस्पतालों को आक्सीज़न की कमी का सामना करना पड़ा। पीएसआरआई ने भी ट्वीट किया कि कुछ ही घंटों के लिए आक्सीज़न बचा है। दक्षिण दिल्ली के मूलचंद अस्पताल को ट्विट करना पड़ा कि दो घंटे की आक्सीज़न की सप्लाई बची है।

मीडिया पर तंज करते हुए उन्होंने लिखा कि ऑक्सीज़न की कमी की ख़बर को मीडिया ने कैसे कवर किया यह इतिहास में जाने दीजिए। आपके बस की बात नहीं है। वैसे भी आप तक ऐसी ख़बरें कम पहुंच रही होंगी। प्रधानमंत्री ने कैसे मैनेज किया इस तरह की खबरों से आपके सोचने समझने की ख़ाली जगहें भर दी गई होंगी।

रवीश कुमार ने लिखा पहले सूचनाओं का आक्सीज़न कम किया गया। अब आक्सीज़न ही कम हो गया। मीडिया ने जो नहीं किया उस पर बहुत लिख बोल चुका हूं। कितनी बार एक ही बात लिखता रहूंगा।गोदी मीडिया लोकतंत्र का हत्यारा ही नहीं लोक का भी हत्यारा है। मैं बस यही चाहूंगा कि आपको कुछ दिखाई दे।

बताते चलें कि प्रधानमंत्री ने पंचायती राज दिवस के अवसर पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कार्यक्रम को संबोधित किया था। इस अवसर पर कई लोगों को सम्मानित भी किया गया था। इधर शनिवार को जब प्रधानमंत्री पुरस्कार वितरण कर रहे थे उसी समय अदालत में इस मुद्दे पर बहस चल रही थी।

Next Stories
1 7th Pay Commission: कोरोना काल में स्पेशलिस्ट डॉक्टरों को लाखों रुपए देने पर सरकार तैयार, जानें- किन किन पदों पर है लोगों की मांग?
2 हर तरफ चिताएं जल रही हैं, जनता के बीच कैसे जाएंगे?- आरोप-प्रत्यारोप करने पर नेताओं से पूछने लगे एंकर; कहा- अपने साथियों को नहीं बचा पा रहे हैं
3 कोरोनाः शाहरुख खान ने KKR के स्पॉन्सर को लेकर किया ट्वीट, इतिहासकार हबीब बोले- आपका जन्मस्थान बंटवारे की हिंसा वाले दर्द के दौर से गुजर रहा
यह पढ़ा क्या?
X