ताज़ा खबर
 

रवीश कुमार ने दी कोरोना में सावधानी बरतने की सलाह, लोग करने लगे तरह-तरह के कमेंट

एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने एक फेसबुक पोस्ट शेयर किया है। रवीश ने फाहीम यूनास का ट्वीट शेयर करते हुए लोगों को कोरोना में सावधानी बरतने की सलाह दी है। उनके इस पोस्ट पर यूजर्स तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं।

Author Edited By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: November 20, 2020 9:21 PM
covid 19, corona virus, ravish kumar, facebook post, india corona, jansattaएनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने covid 19 को लेकर एक फेसबुक पोस्ट शेयर किया है। (file)

कोरोना वायरस का प्रकोप अब भी कम नहीं हुआ है। रोजाना यहां हजारों की संख्या में लोग पॉज़िटिव पाये जा रहे हैं। इसे लेकर एनडीटीवी के वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार ने एक फेसबुक पोस्ट शेयर किया है। रवीश ने फाहीम यूनास का ट्वीट शेयर करते हुए लोगों को कोरोना में सावधानी बरतने की सलाह दी है। उनके इस पोस्ट पर यूजर्स तरह-तरह के कमेंट कर रहे हैं।

रवीश ने अपने पोस्ट में लिखा “अमरीका में 55 लोग एक शादी में गए। एक व्यक्ति को कोविड था। शादी के बाद सब घर आए। एक से संक्रमण 177 लोगों को हो गया। 7 लोगों की कोविड से मौत हो गई। ये 7 वो लोग थे जो शादी में नहीं गए। जो गए उनके कारण मारे गए। इस हालत में जो धूमधाम से शादी करने की सनक नहीं छोड़ पा रहे हैं उन्हें आप छोड़ दें। ज़बरन ख़ुद को दिलासा देकर किसी शादी में जाने को बेहद ज़रूरी घोषित न करें। आगे आप समझदार हैं।”

रवीश के इस पोस्ट पर समभू यादव नाम के यूजर ने लिखा “हे पत्रकारिता के अभिनंदन लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ जी “” बिमारी और बिमार पहले भी थे और आगे भी रहेंगे लेकिन अस्पतालों में वयवस्था देना सरकारो का काम जिसमें आज सारे देश में सभी राज्य सरकारों मै सबसे काबिल सबसे अव्वल है “” अरविंद केजरीवाल और बाकी सब चंगा सी के नशे में बेफिक्र, इसलिए हे मेरे देश के लोगों, सभी पहने मास्क, जरूर बहुत जरूरी है, कोविड एक लम्बी कड़ी लड़ाई है। सावधानी ही सुरक्षा है।”

एक ने लिखा “अरे शादी जीवन में एक बार होती है साहब… चार पांच सौ न पहुंचे पचास साठ पी के न लुढकें तीन चार नागिन डांस में कोट न फाड़ें तो घंटा शादी…. मरने का क्या है मरेंगे खट् से दूसरा जन्म… लोड ही नहीं, अबे डीजे मय से मीना से न साकी से लगा बे।”

एक अन्य यूजर ने लिखा “कोरोना की रोकथाम अब सरकार के बस की बात नहीं है, हर नागरिक को खुद सतर्क रहना होगा, क्योकि जब इससे बेहतर तरीके से रोका जा सकता था, तब थाली बजा कर और दिये जला कर नजरंदाज कर दिया गया, कोरोना योद्धाओ को छोड़ कर बाकी सरकारे और उसके अधिकारी, कर्मचारियो ने छुट्टी मनाई।”

बता दें देश में एक दिन में कोविड-19 के 45,576 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के मामले बढ़कर 89.58 लाख हो गए हैं। वहीं 83.83 लाख से अधिक लोगों के संक्रमण मुक्त होने के साथ ही देश में मरीजों के ठीक होने की दर बढ़कर 93.58 प्रतिशत हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों में यह जानकारी दी गयी है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी आंकड़ों के अनुसार देश में एक दिन में कोविड-19 के 45,576 नए मामले सामने आने के बाद संक्रमण के मामले बढ़कर 89,58,483 हो गए। वहीं 585 और लोगों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 1,31,578 हो गई। इसके अनुसार देश में लगातार नौवें दिन उपचाराधीन लोगों की संख्या पांच लाख से कम है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 सुप्रीम कोर्ट में बोली यूपी सरकार, हाथरस में हिंसा भड़काने जा रहे थे पत्रकार कप्पन, SC ने दी वकील से मिलने की अनुमति
2 पाकिस्तान से आए थे आतंकी, प्रधानमंत्री ने कहा- लोकतंत्र को नुकसान पहुंचाने का था इरादा, सुरक्षाबलों ने कर दिया ढेर
3 राहुल गांधी बोले- तुगलकी लॉकडाउन से करोड़ों मजदूर सड़क पर, सिर्फ बातों की मोदी सरकार
यह पढ़ा क्या?
X