ताज़ा खबर
 

रामविलास पासवान ने मायावती के नाम से पहले नहीं लगाया ‘बहनजी’, भड़के BSP सांसद बोले – अदब से लें नाम

सतीश चंद्र मिश्र ने बीच में ही रामविलास पासवान को टोकते हुए कहा कि 'मान्यवर मैं आपसे निवेदन करना चाहूंगा कि जो सदन में नहीं हैं उनका नाम ले रहे हैं तो जरा अदब से नाम लें। श्रीमान आपको मालूम होना चाहिए की बहन मायावती जी

रामविलास पासवान की बात सुनकर भड़क गए बसपा सांसद फोटो सोर्स – वीडियो स्क्रीनशॉट, यूट्यूब- RSTV

राज्यसभा में सवर्णों को आरक्षण देने संबंधी संविधान संशोधन बिल पर चर्चा के वक्त अलग-अलग राजनीतिक दलों के सांसदों ने अपने-अपने विचार रखे। लेकिन चर्चा के वक्त लोकजन शक्ति पार्टी प्रमुख रामविलास पासवान और बहुजन समाज पार्टी के सांसद सतीश चंद्र मिश्र के बीच तकरार हो गई। दरअसल एलजेपी सुप्रीमो रामविलास पासवान अपनी जगह से खड़े कर अपनी बात रख रहे थे और इस दौरान उन्होंने मायावती का नाम लिया। लेकिन रामविलास पासवान ने मायावती के नाम से पहले बहन नहीं लगाया।

यह बात सदन में मौजूद बसपा के सांसद सतीश चंद्र मिश्र को रास नहीं आई। सतीश चंद्र मिश्र ने बीच में ही रामविलास पासवान को टोकते हुए कहा कि ‘मान्यवर मैं आपसे निवेदन करना चाहूंगा कि जो सदन में नहीं हैं उनका नाम ले रहे हैं तो जरा अदब से नाम लें। श्रीमान आपको मालूम होना चाहिए की बहन मायावती जी…और अगर आप इस तरह से बात कर रहे हैं तो जरा सोच समझ कर बात करिए।’ इसपर रामविलास पासवान ने दो बार सॉरी-सॉरी कहा। लेकिन इसके बाद सतीश चंद्र के समर्थन में विपक्ष के सदस्य अपनी सीट के पास खड़े होकर हंगामा करने लगे। इसपर रामविलास पासवान ने कहा कि मेरी प्यारी बहन मायावती जी। इसपर फिर सतीश चंद्र मिश्र ने कहा कि उनकी वजह से आप आज यहां बैठे हुए हैं। इसपर रामविलास पासवान ने कहा की ठीक है।

देखें वीडियो:

रामविलास पासवान ने आगे कहा कि मैं यह कहना नहीं चाहता हूं कि मैं एमएलए बना था संयुक्त सोशलिस्ट पार्टी से साल 1969 में और यह रिकॉर्डेड है और यह पचासवां साल है। अब अगर इसके बाद भी कोई यह कहता है कि फलां की वजह से मैं राजनीति में आया तो मैं इसपर कुछ नहीं कह सकता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App