रामविलास पासवान की पुण्यतिथि पर बोलीं पत्नी, मंत्री बनने के लिए पारस ने परिवार तबाह कर दिया

दिवंगत लोजपा नेता रामविलास पासवान की पत्नी रीना पासवान ने परिवार में हुई फूट को लेकर कहा कि मंत्री बनने के लिए पशुपति पारस ने सबकुछ तबाह कर दिया।

शुक्रवार को चिराग पासवान ने दिल्ली में दिवंगत लोजपा नेता व अपने पिता रामविलास पासवान की पुण्यतिथि मनाई। (फोटो: ट्विटर/ LJP4India)

शुकवार को दिवंगत लोजपा नेता रामविलास पासवान की पहली पुण्यतिथि मनाई गई। लोजपा में हो चुके दो फाड़ का असर रामविलास की पुण्यतिथि कार्यक्रम पर भी देखने को मिला। पारस गुट ने पटना में कार्यक्रम आयोजित किया तो सांसद चिराग पासवान ने दिल्ली में पुण्यतिथि कार्यक्रम का आयोजन किया। पुण्यतिथि कार्यक्रम के दौरान मीडिया के सामने आई रामविलास पासवान की पत्नी रीना पासवान केंद्रीय मंत्री पशुपति कुमार पारस पर जमकर बरसीं और उन्होंने कहा कि पारस ने मंत्री बनने के लिए परिवार तबाह कर दिया।

एबीपी न्यूज के साथ बातचीत में दिवंगत लोजपा नेता रामविलास पासवान की पत्नी रीना पासवान ने परिवार में हुई फूट को लेकर कहा कि आज जब वो ये देख रहे होंगे तो वे (रामविलास पासवान) बहुत तकलीफ में होंगे। आगे उन्होंने कहा कि इस घर में आए हुए मुझे 44 साल हो गए और मैंने परिवार को हमेशा जोड़कर रखा। हर सुख-दुख की घड़ी में मैं पहले रही। मुझे कुछ दुनिया नजर ही नहीं आती थी। पशुपति पारस, रामचंद्र, उनका परिवार और मेरी दोनों देवरानी, इसके अलावा तो मुझे लगता था कि मेरी कोई दुनिया ही नहीं है। 

आगे रीना पासवान ने कहा कि पता नहीं ऐसा क्या हुआ, उनको (पशुपति पारस) किस चीज से परेशानी हुई। उनको बस मंत्री बनना था, इसलिए सबकुछ ख़त्म कर दिया। मेरे पास आते और बोलते कि मुझे मंत्री बनना है। हमलोग सबकुछ तय कर लेते। एक बार आकर बोलते तो सही। मैंने बात करने की बहुत कोशिश की। लेकिन कोई फोन नहीं उठाता है, ना घर के बच्चे, ना ही देवरानी और ना ही पारस फोन उठाते हैं। 

इसके अलावा रीना पासवान ने कहा कि रामविलास पासवान की तेरहवीं के बाद वे हमारे घर में भी नहीं आए। तेरहवीं के बाद वे एक बार सिर्फ एक कार्यक्रम में आए, वो भी मेरे बहुत रोने के बाद आए, जब मैंने उन्हें कहा कि कम से कम इसमें तो अपने परिवार के साथ आ जाइए। 

इस दौरान जब रीना पासवान से पूछा गया कि वे कह रहे हैं कि चिराग पासवान अपने दिमाग से नहीं बल्कि किसी सौरभ पांडेय के दिमाग से चलते हैं। तो उन्होंने कहा कि वो बहुत गलत बोल रहे हैं। मेरी भी बातचीत हुई थी। मैंने उनसे कहा था कि अगर सौरभ पांडेय से दिक्कत है तो आइये, हमलोग बैठकर बातचीत करेंगे। अगर उसकी गलती है तो मैं उसको एक मिनट में बाहर निकाल दूंगी। उनका (पारस) कहना था कि उन्हें प्रदेश अध्यक्ष पद से क्यों हटाया गया? जबकि साहब (राम विलास पासवान) ने ही उन्हें हटाया था।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट