ताज़ा खबर
 

रामजस कॉलेज हिंसा: कारगिल शहीद की बेटी का ABVP के खिलाफ कैम्पेन- तुम्हारे पत्थर शरीर को चोट पहुंचाते हैं, आदर्शों को नहीं

गुरमेहर कौर ने लिखा है, ‘मैं दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ती हूं। मैं एबीवीपी से नहीं डरती। मैं अकेली नहीं हूं। भारत का हर छात्र मेरे साथ है।'

Ramjas college violent clashes, Ramjas college, ABVP, kargil martyr, ramjas violence, ramjas protest, delhi university, delhi university clash, abvp ramjas, ramjas abvp, abvp clash, ramjas clash, delhi news, Gurmehar Kaur, Gurmehar Kaur FB campaign, delhi university News, DU, jansattaकारगिल में शहीद हुए कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी गुरमेहर कौर ने फेसबुक पर कैम्पेन चलाया है। (Photo Source: Facebook)

दिल्ली विश्वविद्यालय के रामजस कॉलेज में हिंसक झड़पों के कुछ दिन बाद लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा और कारगिल में शहीद हुए जवान की बेटी ने सोशल मीडिया पर एक अभियान शुरू किया है, जिसका नाम है- ‘मैं एबीवीपी से नहीं डरती’। यह अभियान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। कारगिल में शहीद हुए कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी गुरमेहर कौर ने एक तख्ती पकड़ी हुई तस्वीर फेसबुक पर प्रोफाइल तस्वीर के तौर पर लगाई है। इस तख्ती पर लिखा है, ‘मैं दिल्ली विश्वविद्यालय में पढ़ती हूं। मैं एबीवीपी से नहीं डरती। मैं अकेली नहीं हूं। भारत का हर छात्र मेरे साथ है। हैशटैग स्टूडेंट्स अगेंस्ट एबीवीपी।’

गुरमेहर ने अपने फेसबुक स्टेटस में लिखा है, ‘एबीवीपी द्वारा निर्दोष छात्रों पर किया गया निर्मम हमला परेशान करने वाला है और इसे रोका जाना चाहिए। यह हमला प्रदर्शनकारियों पर नहीं था बल्कि यह लोकतंत्र की हर उस धारणा पर हमला था, जो हर भारतीय के दिल के करीब है। यह आदर्शों, नैतिक मूल्यों, स्वतंत्रता और इस देश में जन्मे हर व्यक्ति के अधिकारों पर किया गया हमला था।’ साथ ही गुरमेहर ने लिखा, ‘जो पत्थर तुम फेंकते हो, वह हमारे शरीरों को चोट पहुंचाते हैं लेकिन ये हमारे आदर्शों को चोट नहीं पहुंचा सकते। यह प्रोफाइल तस्वीर डर के ,निरंकुशता के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का मेरा अपना तरीका है।’

विश्वविद्यालय में साहित्य की छात्रा के सहपाठियों और दोस्तों ने इस पोस्ट को साझा किया है। इस पहल के सोशल मीडिया पर वायरल हो जाने के बाद देशभर के विश्वविद्यालयों के बहुत से छात्रों ने इसी तख्ती वाली प्रोफाइल पिक्चर लगा ली है। गुरमेहर की फेसबुक पोस्ट पर अब तक 2100 प्रतिक्रियाएं और 542 टिप्पणियां आ चुकी हैं। इस पोस्ट को 3456 बार साझा किया जा चुका है।

बता दें, रामजस कॉलेज में बुधवार को आइसा और एबीवीपी कार्यकर्ताओं के बीच भारी हिंसा देखने को मिली थी। यह झड़प ‘विरोध प्रदर्शनों की संस्कृति’ नामक गोष्ठी को संबोधित करने के लिए जेएनयू के छात्रों उमर खालिद और शहला राशिद को बुलाए जाने के कारण हुई थी। कॉलेज प्रशासन ने आरएसएस की छात्र इकाई के विरोध के चलते इसे रद्द कर दिया था।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 एटीएम से निकला 2000 रुपए के नोट की ‘फोटोकॉपी’, मैनेजर बोले- दो हजार के लिए क्यों कोई अपनी नौकरी खतरे में डालेगा?
2 पुणे यूनिवर्सिटी में ABVP और SFI कार्यकर्ताअों के बीच मारपीट, ABVP के 4 और SFI के 5 कार्यकर्ता पुलिस हिरासत में
3 सूर्य ग्रहण 2017: 26 फरवरी को होगा इस साल का पहला ग्रहण, जानिए 2017 में और कब-कब होगा ऐसा