ताज़ा खबर
 

रामजस कॉलेज हिंसा: छात्रा ने बताई आपबीती- पुरुष पुलिसकर्मियों ने बाल पकड़कर सड़क पर घसीटा, घूसे मारे

डीयू की छात्रा ने बताया कि पुलिसवाले हमें डराना और पीटना चाहते थे।

एबीवीपी के खिलाफ प्रदर्शन करतीं छात्राएं। ( Photo Source: PTI)

दिल्ली यूनिवर्सिटी के रामजस कॉलेस में 22 फरवरी को एक सेमिनार के रद्द होने को लेकर एबीवीपी और एआईएसए के कार्यकर्ताओं में हिंसक झड़प हो गई। एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने जेएनयू के छात्र उमर खालिद के बुलाने का विरोध किया था, जिसके बाद सेमिनार को भी रद्द कर दिया गया। इसके बाद दोनों संगठनों के कार्यकर्ता आमने-सामने आ गए और आपस में भिड़ गए। बाद में छात्रों ने एबीवीपी के खिलाफ विरोध-प्रदर्शन किया। इस दौरान पुलिस ने छात्रों को लाठीचार्ज और अन्य तरीकों से नियंत्रित करने की कोशिश की। दिल्ली यूनिवर्सिटी की एक छात्रा ने अंग्रेजी वेबसाइट द क्विंट को उस दिन की अपनी आपबीती बताई है। छात्रा ने बताया कि महिला पुलिसकर्मियों के होने के बावजूद भी उनके साथ पुरुष पुलिसकर्मियों ने मारपीट की।

छात्रा ने बताया, ’22 फरवरी की शाम को मैं 200 से ज्यादा छात्रों के साथ थी। हम लोग सड़क पर बैठे थे और नारे लगा रहे थे। एक महिला एसएचओ वहां आई और हमसे कहा कि यहां से चले जाओ। उसने हमें बोला कि हम पांच मिनट में यह जगह खाली कर दें। हम लोगों ने मना कर दिया और कहा कि जब तक एफआईआर दर्ज नहीं होगी, हम लोग तब तक नहीं जाएंगे। उन लोगों ने हमें चेतावनी नहीं दी। उन लोगों ने हमें लाठीचार्ज के बारे में भी नहीं बताया। हम लोगों ने हमारा विरोध प्रदर्शन जारी रखा। तभी अचानक मैंने शोर सुना। दो पुलिसवालों ने मेरा हाथा पकड़ा और सड़क पर घसीटना शुरु कर दिया। वे मुझे बस तक ले गए। उन्होंने मेरे चेहरे पर घूसे मारे। वे मुझे बस के पीछे ले गए, जहां पांच-छह दूसरे पुलिसवाले इंतजार कर रहे थे। उन्होंने मुझे पीटना शुरू कर दिया और बाल खींचे। उन्होंने चिल्लाया ‘बस के अंदर चलो’। लेकिन वे मुझे बस के अंदर नहीं जाने दे रहे थे। वे मुझे दरवाजे के पास धक्के देते रहे और मुझे पीटते रहे। यह स्पष्ट था कि वे मुझे चोट पहुंचाना और डराना चाहते थे। अगर वे मुझे बस के अंदर ले जाना चाहते थे तो मुझे कह सकते थे या मुझे घसीटकर अंदर ले जा सकते थे। वहां पर महिला पुलिसकर्मी भी मौजूद थीं।’

HOT DEALS
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 13989 MRP ₹ 16999 -18%
    ₹2000 Cashback

यहां देखें वीडियो-

(Video Source: Youtube/The Quint)

साथ ही छात्रा ने बताया, ‘मैंने सोचा कि हो सकता है मेरे छोटे बाल होने की वजह से उन्होंने मुझे लड़का समझ लिया होगा। लेकिन तभी देखा कि मेरी ही कॉलेज की दूसरी लड़की के भी बाल नोचे जा रहे थे। एबीवीपी के कार्यकर्ता महिलाओं को रेप की धमकियां दे रहे थे। लेकिन पुलिस हमें पीट रही थी और बस में भर रही थी। इसके बाद हमें हिरासत में ले लिया गया और एक घंटे तक बस में रखा। हमें रात में 9 बजे के आसपास हौज खास स्टेशन पर उतारा गया। मेरे पास मेरा सामान नहीं था, यहां तक की मेरा मोबाइल फोन भी नहीं। मेरा सामान उस दिन गायब हो गया।’

वीडियो- दिल्ली: रामजस कॉलेज में ABVP-AISA के बीच हिंसक झड़प, हुई मारपीट; जानिए पूरा मामला

इसके अलावा छात्रा ने कहा, ‘जब हमें हौज खास मेट्रो स्टेशन पर उतारा गयाा तो हम लोग यह सोच रहे थे कि अब क्या करें। हमें हमारे दोस्त से पता चला कि एबीवीपी के कुछ कार्यकर्ता नॉर्थ कैम्पस के पास सड़कों पर घूम रहे हैं और प्रदर्शन में हिस्सा लेने वाले छात्रों के साथ मारपीट कर रहे हैं। हम लोग वापस जाने से डर रहे थे। हमें यह भी सुनने को मिला कि एबीवीपी के कार्यकर्ता होस्टलों में छापा मारकर उन छात्रों को पीट रहे हैं, जिन्होंने प्रदर्शन में हिस्सा लिया था। इसके बाद हमारे एक टीचर ने हमें वापस पीजी, होस्टल और फ्लैट में पहुंचाया।’

रामजस कॉलेज के छात्र मंगलवार को नॉर्थ कैम्पस में एबीवीपी के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए। ( Photo Source: PTI)

वीडियो- बीजेपी नेता अनिल विज ने कहा- "गुरमेहर के समर्थक पाकिस्तानी समर्थक, देश से निकाल फेंको"

वीडियो- रामजस विवाद: किरण रिजिजू ने कहा- जवानों की मौत पर जश्न मनाते हैं ये वामपंथी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App