ताज़ा खबर
 

मोदी सरकार के मंत्री ने मांगा अगड़ी जातियों के लिए 25 फीसदी आरक्षण, कहा- पीएम से बात करेंगे

केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास आठवले ने नौकरियों में अगड़ी जाति के लोगों को भी आरक्षण देने की वकालत की है। अठावले ने कहा कि नौकरियों में अगड़ी जाति के गरीब लोगों को 25 प्रतिशत आरक्षण दिया जाना चाहिए।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (फाइल फोटो)

केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्यमंत्री रामदास आठवले ने नौकरियों में अगड़ी जाति के लोगों को भी आरक्षण देने की वकालत की है। अठावले ने कहा कि नौकरियों में अगड़ी जाति के गरीब लोगों को 25 प्रतिशत आरक्षण दिया जाना चाहिए। रामदास अठावले के मुताबिक, ऐसा करने से आरक्षण को लेकर चल रही बहस भी खत्म हो जाएगी। टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, अठावले ने एक न्यूज एजेंसी से बात करते हुए कहा कि नौकरियों में 75 प्रतिशत आरक्षण कर देना चाहिए जिसमें से 25 प्रतिशत अगड़ी जाति के गरीब लोगों के लिए हो। इतना ही नहीं अठावले ने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी बात करने की बात कही। अठावले ने कहा कि वह पीएम मोदी से बात करेंगे। उन्होंने सभी राजनीतिक दलों से इस बारे में बात करके कोई संशोधन करने की भी बात कही। अठावले ने यह बात मंगलवार (30 अगस्त) को कही।

खबर के मुताबिक, अठावले ने यह भी कहा कि आरक्षण का विरोध होने के बावजूद इसे कभी खत्म नहीं किया जा सकता। हालांकि, अठावले ने यह भी कहा कि वह आर्थिक स्तर पर कमजोर लोगों को आरक्षण देने के पक्ष में हैं। जैसे, गुजरात में पटेल और हरियाणा में जाट। फिलहाल SC, ST और OBC के लिए नौकरियों में कुल 49.5 प्रतिशत आरक्षण है। सुप्रीम कोर्ट ने भी आदेश दे रखा है कि इसे 50 प्रतिशत से कम ही रखा जाएगा।

हाल ही में बीजेपी सांसद उदित राज के बीफ वाले बयान का काफी लोगों ने विरोध किया था। उन लोगों में रामदास अठावले भी शामिल थे। अठावले ने मजाकिया लहजे में बताया था कि केवल बीफ खाने से ही सम्‍मान नहीं मिलता है। अठावले ने कहा था, ‘मैं बीफ नहीं खाता लेकिन मैं तो मंत्री बन गया।’

Read Also: उदित राज के बयान पर रामदास अठावले की प्रतिक्रिया- मैं तो बीफ नहीं खाता, पर मंत्री बन गया

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. राजेश खोब्रागडे
    Dec 8, 2016 at 5:27 am
    आठवले के 25% आरक्षण वाले बयान से मत नही।राजनैतिक है।
    (0)(0)
    Reply