ताज़ा खबर
 

जब अटल जी ने सुनाया था नेहरू संग ‘घनिष्ठता’ का किस्सा, रामचंद्र गुहा ने शेयर किया पुराना VIDEO, वायरल

अटल जी के मुताबिक, "ऐसा नहीं है कि नेहरू जी से मतभेद नहीं थे। चर्चा के दौरान ये चीजें गंभीर रूप से सामने आती थीं। मैंने एक बार उनसे कह दिया था कि आपका मिला जुला व्यक्तित्व है। आप में चर्चिल भी हैं और चैंबरलेन भी है। वह इस बात पर नाराज नहीं हुए।"

Atal Bihari Vajpayee, BJP, NDA, Parliament, Pandit Jawarlal Nehruपूर्व पीएम अटल के मुताबिक, उनके और नेहरू के बीच मतभेद होने के बावजूद संबंध अच्छे थे। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

भारत रत्न से सम्मानित BJP के दिवंगत कद्दावर नेता और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने एक बार संसद में पूर्व पीएम पंडित जवाहर लाल नेहरू के साथ अपने घनिष्ठ संबंधों का किस्सा साझा किया था। उन्होंने उस दौरान भरे सदन में कहा था कि मतभेद होने के बाद भी उन दोनों के बीच अच्छे संबंध थे। एक-दूसरे की आलोचना पर कड़वाहड़ या निजी दुश्मनी जैसी स्थिति नहीं पनपती थी।

उन्होंने कहा था, “कांग्रेस के मित्र शायद भरोसा नहीं करेंगे, पर साउथ ब्लॉक में नेहरू जी का चित्र लगा रहता था। मैं आते-जाते देखता रहता था। नेहरू जी के साथ सदन में नोंक-झोंक भी होती थी। मैं नया था, सदन में पीछे बैठता था। कभी-कभी बोलने के लिए मुझे वॉकआउट करना पड़ता था। पर धीरे-धीरे मैं आगे बढ़ा और मैंने जगह बनाई।”

वह बोले- मैं जब विदेश मंत्री बन गया, तब मैंने गलियारे में उसी नेहरू के चित्र को गायब देखा। मैं उस चित्र के बारे में पूछा पर मुझे कोई उत्तर न मिला। हालांकि, बाद में वह तस्वीर फिर वहीं लगा दी गई। क्या इस भावना की कद्र है। क्या इस देश में यह भावना है?

अटल जी के मुताबिक, “ऐसा नहीं है कि नेहरू जी से मतभेद नहीं थे। चर्चा के दौरान ये चीजें गंभीर रूप से सामने आती थीं। मैंने एक बार उनसे कह दिया था कि आपका मिला जुला व्यक्तित्व है। आप में चर्चिल भी हैं और चैंबरलेन भी है। वह इस बात पर नाराज नहीं हुए। शाम को किसी बैंक्वेट में मुलाकात हुई और बोले थे- आज तो बड़ा जोरदार भाषण दिया। वह इसके बाद मुस्कुराते हुए चले गए। पर आजकल ऐसी आलोचना करना तो दुश्मनी को दावत देने जैसा है।”

जाने-माने इतिहासकार रामचंद्र गुहा ने अटल जी के इसी भाषण के हिस्से के वीडियो को रविवार को सोशल मीडिया पर शेयर किया। ट्वीट करते हुए लिखा- वाजपेयी (जब पीएम थे) संसद में पंडित नेहरू के साथ अपने रिश्तों को लेकर बोलते हुए।

देखें वीडियोः

गुहा के शेयर करने के बाद देखते ही देखते यह वीडियो वायरल हो गया। रविवार रात करीब साढ़े 11 बजे तक इसे 10 लाख से अधिक लोगों ने देखा। साढ़े 12 हजार से अधिक बार रीट्वीट किया गया और करीब 41 हजार लोगों ने इसे लाइक किया।

इसी बीच, गुहा के इस ट्वीट पर लोगों ने पहले के राजनेताओं और राजनीति की मिसाल देते हुए ट्वीट किए। लोगों ने कहा कि अब उस तरह की सियासत नहीं रही। @manoj_indore ने ट्वीट किया- आज कल तो सोनिया गांधी को उनके असली नाम से पुकार लो तो ही कांग्रेसियों का ब्लड प्रेशर बड़ जाता है।

@DinTri ने लिखा- अटल जी स्टेट्समैन (बढ़िया राजनेता) थे। मेरा सौभाग्य था, जो मैं उन्हें करीब से जानता था। गुरु पूर्णिमा पर उन्हें याद करना और भी अच्छा और उचित लगता है। वह कई लोगों को राजनीतिक गुरु हैं। मैंने भी उनसे बहुत कुछ सीखा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राष्ट्रवाद पर डिबेट में तस्लीम रहमानी की बात पर भड़के एंकर, दिया जवाब तो पैनलिस्ट ने बता दिया ‘कम्युनल बदतमीज’; कहा-ये आपके दिमाग की सड़ांध है
2 एक ‘SON’ है, जो कभी उदित नहीं हो सकता- ट्वीट कर कांग्रेसियों के निशाने पर आए BJP के संबित पात्रा, ट्रोल्स बोले- यहां हाफ पैंट फुल हुई, पर वहां दिमाग न हो पाया
3 कोविड-19: टेस्टिंग के मामले में विश्व में 138वें स्थान पर भारत, संक्रमण में रूस को छोड़ तीसरे नंबर पर पहुंचने के करीब
ये पढ़ा क्या?
X