ताज़ा खबर
 

राम जन्‍मभूमि न्‍यास के अध्यक्ष बोले- 2019 चुनाव से पहले बनना शुरू हो जाएगा राम मंदिर, बीजेपी ने कर ली तैयारी

डॉ. रामविलास वेदांती ने ये भी कहा कि लखनऊ में बनने वाली सबसे बड़ी मस्जिद किसी लुटेरे के नाम पर नहीं होगी, बल्कि वह अल्लाह और इस्लाम के नाम पर बनेगी।

राम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष डॉ. राम विलास वेदांती। (image source-ANI)

रामजन्मभूमि न्यास के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. रामविलास वेदांती ने शनिवार को एक बड़ा बयान देते हुए कहा कि भाजपा ने अयोध्या में राम मंदिर मुद्दे को लगभग सुलझा लिया है। अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण 2019 लोकसभा चुनावों से पहले शुरु हो जाएगा। डॉ. वेदांती ने ये भी कहा कि अयोध्या में विश्व का सबसे बड़ा मंदिर बनेगा और लखनऊ में विश्व की सबसे बड़ी मस्जिद। हम समझौते के अंतिम चरण में पहुंच गए हैं और जल्द ही बड़ा फैसला लिया जाएगा। रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष ने ये बातें इलाहाबाद में एक कार्यक्रम के दौरान कहीं। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि जल्द ही सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ जाएगा, जिसके बाद मंदिर निर्माण शुरु होगा। डॉ. रामविलास वेदांती ने ये भी कहा कि लखनऊ में बनने वाली सबसे बड़ी मस्जिद किसी लुटेरे के नाम पर नहीं होगी, बल्कि वह अल्लाह और इस्लाम के नाम पर बनेगी।

हालांकि रामविलास वेदांती ने मंदिर निर्माण की कोई निश्चित तारीख नहीं बतायी। उन्होंने बताया कि 24 अक्टूबर को अयोध्या में मोदी विजय रथयात्रा निकाली जाएगी, जो सभी लोकसभा क्षेत्रों में जाएगी। रामजन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष ने इस मौके पर समाजवादी पार्टी और कांग्रेस पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और सपा ने सभी को तोड़ा है जबकि भाजपा ने सभी को जोड़ा है। डॉ. राम विलास वेदांती इलाहाबाद के कटरा में स्थित माथुर वैश्य धर्मशाला में मिशन मोदी, अगेन मोदी कार्यशाला में शामिल होने आए थे।

बता दें कि राम विलास वेदांती मिशन मोदी, अगेन मोदी कार्यशाला के राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए गए हैं, जबकि रामगोपाल काका को राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष चुना गया है। इस मौके पर रामगोपाल काका ने कहा कि नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाने के लिए हर बूथ पर 11 मिशन कार्यकर्ता और हर लोकसभा क्षेत्र में 11000 कार्यकर्ताओं की टीम बनेगी। इलाहाबाद में चल रही कार्यशाला 2 दिनों तक चलेगी, जिसका आज समापन हो जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App