ताज़ा खबर
 

राम माधव बोले-UN में हिज्बुल मुजाहिद्दीन के कमांडर की तरह बोल रहे थे नवाज शरीफ

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री शरीफ ने आठ जुलाई को सुरक्षा बलों के साथ एक मुठभेड़ में मारे गये वानी का हवाला एक ‘युवा नेता’ के रूप में दिया था।
Author नई दिल्ली | September 22, 2016 13:23 pm
भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव। (File Photo)

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की तुलना हिज्बुल मुजाहिद्दीन के कमांडर से की है। यूएन की जनरल एसेंबली के 71वें सेशन में पाकिस्तान प्रधानमंत्री के भाषण पर निशाना साधते हुए माधव ने कहा कि नवाज शरीफ वहां पाकिस्तान के सुप्रीम कमांडर की तरह नहीं, बल्कि हिज्बुल मुजाहिद्दीन के सुप्रीम कमांडर की तरह बोल रहे थे। माधव ने कहा कि यह देखना शर्मनाक है कि नवाज शरीफ संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकवादी घोषित संगठन का झंडा बुलंद कर रहे थे। न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए माधव ने गृहमंत्री राजनाथ सिंह के शब्दों को दोहराते हुए कहा कि पाकिस्तान को एक आतंकी देश घोषित कर दिया जाना चाहिए।

बुधवार को पाकिस्तान प्रधानमंत्री शरीफ ने आठ जुलाई को सुरक्षा बलों के साथ एक मुठभेड़ में मारे गये वानी का हवाला एक ‘युवा नेता’ के रूप में दिया और कहा कि वह ‘ताजा कश्मीरी इन्तिफादा, एक लोकप्रिय और शांतिपूर्ण स्वतंत्रता आंदोलन के प्रतीक के रूप में उभरे हैं…।’ वानी का सरेआम समर्थन करने पर नवाज शरीफ की आलोचना करते हुए कहा कि नवाज शरीफ बहुत ही शर्मनाक बयान दे रहे थे। बता दें, इससे पहले बुधवार को माधव ने सुझाव दिया था कि सरकार को पाकिस्तान पर सभी तरफ से दबाव बनाना चाहिए। उन्होंने कहा था कि, ‘अन्य कदमों के साथ ही सरकार और समबंधित एजेंसियों को सही समय पर जरूरी जवाब भी देना होगा।

Read Also: नवाज़ शरीफ ने यूएन में अलापा कश्मीर राग, बुरहान वानी को बताया कश्मीर की आवाज़

माधव के साथ ही शरीफ के भाषण का भारत के कई नेताओं ने आलोचना की है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने गुरुवार को पाकिस्तानी प्रधामनंत्री के भाषण को हास्यपद बताते हुए कहा कि पाकिस्तान को यह नहीं पता होता कि जब वे ऐसा बोलते हैं, तो वे अपना ही मजाक उड़ा रहे होते हैं।

Read Also: ‘नवाज शरीफ द्वारा आतंकी बुरहान वानी के महिमामंडन से पता चलता है पाकिस्तान का आतंकवाद से जुड़ाव’

उरी हमले से संबंधित विस्तृत खबरें यहां पढ़ें…

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.