ताज़ा खबर
 

राम मंदिरः एक ही दिन ट्रस्ट ने की दो डील, बराबर ज़मीन के लिए चुकाई अलग-अलग कीमत, बड़ा अंतर

18 मार्च, 2021 को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने अयोध्या में 18.5 करोड़ रुपये और 8 करोड़ रुपये में दो अलग अलग 1.208 हेक्टेयर और 1.037 हेक्टेयर जमीन खरीदी। जमीन के दोनों टुकड़े हरीश पाठक और कुसुम पाठक के नाम पर थे।

Translated By सिद्धार्थ राय नई दिल्ली | Updated: June 17, 2021 9:13 AM
श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने अयोध्या में एक ही दिन में दो अलग-अलग कीमतों पर जमीन खरीदी।(Express photo by Avaneesh Mishra)

श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट द्वारा खरीदी गई जमीन को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। इस विवाद ने एक बार फिर राजनीति को गरमा दिया है। आधिकारिक रिकॉर्ड बताते हैं कि ट्रस्ट ने अयोध्या में एक ही दिन में दो अलग-अलग कीमतों पर जमीन खरीदी।

18 मार्च, 2021 को श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने अयोध्या में 18.5 करोड़ रुपये और 8 करोड़ रुपये में दो अलग अलग 1.208 हेक्टेयर और 1.037 हेक्टेयर जमीन खरीदी। जमीन के दोनों टुकड़े हरीश पाठक और कुसुम पाठक के नाम पर थे। नवंबर 2017 में उनके नाम पर एक सेल डीड रजिस्टर की गई थी। 18 मार्च को ट्रस्ट ने 1.208 हेक्टेयर बड़ा प्लॉट सुल्तान अंसारी और प्रॉपर्टी डीलर रवि मोहन तिवारी से 18.5 करोड़ रुपये में खरीदा, जिन्होंने इसे पाठकों से 2 करोड़ रुपये में खरीदा था।

इस सौदे पर समाजवादी पार्टी (SP) और आम आदमी पार्टी (AAP) ने सवाल खड़े किए हैं और ट्रस्ट पर ‘भ्रष्टाचार और धोखाधड़ी’ का आरोप लगाया है। वहीं ट्रस्ट ने इससे साफ इनकार किया है। अब जो बात सामने आई है वह यह है कि उसी दिन ट्रस्ट ने एक और जमीन का टुकड़ा 1.037 हेक्टेयर सीधे हरीश पाठक और कुसुम पाठक से 8 करोड़ रुपये में खरीदा।

इंडियन एक्सप्रेस ने उत्तर प्रदेश (आईजीआरएस-यूपी) वेबसाइट पर उपलब्ध दस्तावेजों से इसकी पुष्टि की, जो दर्शाता है कि ये दो पार्सल गाटा नंबर 242, 243, 244 और 246 में आते हैं। यह जमीन सितंबर 2019 में हरीश पाठक और कुसुम पाठक और सुल्तान अंसारी सहित नौ अन्य व्यक्तियों के बीच हस्ताक्षरित समझौते का हिस्सा है। इसकी कीमत 2 करोड़ तय की गई थी।

1.208 हेक्टेयर पार्सल की पहचान गाटा नंबर 243, 244 और 246 से होती है। 1.037 हेक्टेयर जमीन की पहचान गाटा नंबर 242 से होती है। 11 मई को ट्रस्ट ने गाटा नंबर 242 से 695.678 वर्ग मीटर जमीन कौशल्या भवन के यशोदा नंदन त्रिपाठी और कौशल किशोर को फ्री में दे दी।

गौरतलब है कि श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय पर अयोध्या में पिछली 18 मार्च को दो करोड़ रुपए में बेची गई जमीन को उसके महज पांच मिनट के अंदर साढ़े 18 करोड़ रुपए में खरीदने का आरोप लगा है। इन दोनों ही खरीद में ट्रस्ट के सदस्य अनिल मिश्रा और अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय गवाह हैं। विपक्ष का आरोप है कि यह धन शोधन का मामला है और इसकी उच्च स्तरीय जांच कराई जाए।

Next Stories
1 कोरोना टीका, मुफ़्त राशन, रोजगार सृजन आदि… धर्मेंद्र प्रधान ने बताए पेट्रोल महंगा होने के कारण
2 पंजाब में कांग्रेसियों को ठगने में लगे प्रशांत किशोर के बहरूपिए, टीवी से सीख ली पीके की स्टाइल
3 सामाजिक प्रभावक बन शोहरत और दौलत कमाएं
ये पढ़ा क्या?
X