राकेश टिकैत ने पीएम मोदी के बताए दो जन्मदिन, बोले- काला झंडा लगाकर हवन कर रहे हैं हम

टिकैत पीएम पर तंज कसने लगे कि पीएम मोदी उस जन्म को मानते हैं जब से उन्होंने संघ की पाठशाला में पढ़ना शुरू किया।

Rakesh Tikait, BKU, National News
BKU के प्रवक्ता और किसान नेता राकेश टिकैत। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि पहले यह तो बताइए कि आज नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है कि प्रधानमंत्री का। प्रधानमंत्री का है तो यह 7वां जन्मदिन है और नरेंद्र मोदी का है तो 71वां है। टिकैत पीएम पर तंज कसने लगे कि पीएम मोदी उस जन्म को मानते हैं जब से उन्होंने संघ की पाठशाला में पढ़ना शुरू किया। टिकैत कहने लगे कि आज पीएम का नहीं नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है। उन्होंने कहा कि वह आज काला झंडा लगाकर हवन कर रहे हैं।

वहीं आज कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर शुक्रवार को उन्हें बधाई दी, साथ ही उनकी सरकार की ‘विफलताओं’ का हवाला देते हुए कहा कि उनके जन्मदिन को ‘बेरोजगारी दिवस’, ‘किसान विरोधी दिवस’, ‘कोरोना कुप्रबंधन दिवस’ और ‘महंगाई दिवस’ के रूप में मनाना उपयुक्त रहेगा। पार्टी की प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने संवाददाताओं से कहा, ‘‘आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का जन्मदिवस है, उन्हें शुभकामनाएं, वह दीर्घायु हों।’’

उन्होंने यह भी कहा, ‘‘भारत के महान प्रधानमंत्रियों के जन्मदिवस को एक एक नाम दिया गया है, जैसे बच्चों के प्रिय चाचा नेहरू के जन्मदिन को ‘बाल दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। इंदिरा जी के जन्मदिन को ‘कौमी एकता दिवस’ के रूप में, राजीव जी के जन्मदिन को ‘सद्भावना दिवस’ और अटल जी के जन्मदिन को ‘सुशासन दिवस’ के रूप में मनाया जाता है।’’

सुप्रिया ने सवाल किया, ‘‘आज सुबह हर अख़बार के कवर पर पूरे पन्ने के विज्ञापनों में मोदी जी का मुस्कराता चेहरा देख कर यह ख़्याल आया कि मोदी जी के जन्मदिन पर उनकी कौन सी उपलब्धि का जश्न मनाया जाए?’’ उन्होंने तंज कसते हुए कहा, ‘‘जब प्रधानमंत्री मोदी की उपलब्धियों पर नज़र डालते हैं तो बीते सात वर्षों में रोज़गार के लिए दर दर की ठोकरें खाते युवा, शोषित किसान, बंद उद्योग, ऑक्सीजन के बिना तड़प तड़प कर दम तोड़ते लोग, महंगाई से जूझती जनता, गैस छोड़ चूल्हा फूंकती महिलाएं, बड़े सरकारी उपक्रमों की बिक्री, भाजपा के सहयोगी संगठन बनी ईडी, सीबीआई एवं आयकर विभाग और कुछ ख़ास चिर परिचित बड़े पूंजीपतियों के चेहरे ही आंखों के सामने आते हैं।’’

कांग्रेस नेता ने कहा कि मोदी के जन्मदिन को ‘बेरोजगारी दिवस, ‘किसान विरोधी दिवस’, ‘कोरोना कुप्रबंधन दिवस’, ‘महंगाई दिवस’, ‘उद्योग मंद, व्यापार बंद दिवस’, ‘पूंजीपति पूजन दिवस’ और ‘ईडी, सीबीआई, आईटी रेड दिवस’ के रूप में मनाना उपयुक्त रहेगा।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।