ताज़ा खबर
 

राकेश टिकैत ने बताई आगे की योजना, कहा अब टिनशेड डालेंगे, दिल्ली बॉर्डर पर बोरिंग करेंगे, 2024 तक तो मान ही जाएगी सरकार

ममता बनर्जी के साथ मुलाकात को लेकर टिकैत ने कहा कि वहां ठीक रहा बातचीत। हमने उनसे पूछा कि यहां पर किसानों के लिए क्या-क्या योजनाएं चल रही है?

किसान नेता राकेश टिकैत (Photo- PTI)

देश में जैसे-जैसे कोरोना के मामले कम हो रहे हैं। एक बार फिर से किसान आंदोलन को तेज करने की कवायद तेज हो गयी है। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने आंदोलन को लेकर आगे की योजना बतायी है। उन्होंने कहा है कि अब टिनशेड डालेंगे, दिल्ली बॉर्डर पर बोरिंग करेंगे। 2024 तक तो सरकार मान ही जाएगी।

मीडिया से बात करते हुए टिकैत ने कहा कि अभी तो सात ही महीना हुआ है आंदोलन का। भारत तो लोकतांत्रिक देश है। देश जब आजाद हुआ था तो 90 साल तक आंदोलन हुआ था। जब पत्रकार ने उनसे पूछा कि आप लोगों की आगे की क्या योजना है तो उन्होंने कहा कि टिनशेड डालेंगे। पीने का पानी भी कम दे रहे हैं अब बोरिंग करेंगे। सरकार या तो 2022 में मान जाएगी या 2023 नहीं तो 2024 में तो मानना ही होगा।

ममता बनर्जी के साथ मुलाकात को लेकर टिकैत ने कहा कि वहां ठीक रहा बातचीत। हमने उनसे पूछा कि यहां पर किसानों के लिए क्या-क्या योजनाएं चल रही है? साथ ही बंगाल के किसानों के लिए क्या बेहतर योजना हो सकती है। साथ ही ममता बनर्जी ने कहा कि हमने पहले भी किसानों को समर्थन दिया है आगे भी देते रहूंगी।

राकेश टिकैत ने कहा कि मैंने ममता बनर्जी से कहा कि देश में विपक्ष कमजोर है। देश में अगर विपक्ष मजबूत होता तो हमें सड़क पर बैठने की जरूरत ही नहीं होती। देश में विपक्ष मजबूत होना चाहिए। साथ ही टिकैत ने कहा कि मैंने तो मुख्यमंत्री से मुलाकात की है किसी पार्टी अध्यक्ष से मिलने तो मैं गया नहीं था।

बताते चलें कि तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन लगातार जारी है। पिछले कई महीनों से किसान दिल्ली बॉर्डर पर बैठे हुए हैं। सरकार के साथ 11 दौर की वार्ता के बाद भी दोनों पक्ष के बीच कोई फैसला नहीं हो पाया। जिसके बाद से सरकार और किसानों के बीच डेडलॉक जारी है। दोनों ही पक्षों के बीच अंतिम बार वार्ता 22 जनवरी को हुई थी।

Next Stories
1 आपस में लड़ मरेंगे भाजपा के लोग, चल रहा जूतम पैज़ार, बोले सपा प्रवक्ता तो मिला यह जवाब
2 SBI ने अनिल अंबानी की कंपनी Reliance Infratel से ‘फ्रॉड’ टैग हटाने के लिए उठाया ये कदम
ये पढ़ा क्या?
X