ताज़ा खबर
 

क्या ट्रैक्टर पर तिरंगा लगाने की आज़ादी नहीं, राकेश टिकैत बोले- पुलिस अपना काम करे, हम अपना करेंगे

ट्रैक्टर परेड को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने एक टीवी डिबेट में कहा कि हम परेड में दिल्ली के लोगों को किसी भी तरह से परेशान नहीं करेंगे बल्कि दिल्ली पुलिस की सहायता भी करेंगे और व्यवस्था बनाये रखने में मदद भी करेंगे।

Farm law protest , tractor parade , farm lawsकिसान नेता राकेश टिकैत। फोटो सोर्स – ANI

26 जनवरी को देशभर के आंदोलनकारी किसान दिल्ली की सड़कों पर ट्रैक्टर परेड निकालेंगे। किसानों की इस ट्रैक्टर परेड को रोकने के लिए दिल्ली पुलिस ने भी रणनीति बनानी शुरू कर दी है। हालाँकि ट्रैक्टर परेड को लेकर किसानों ने अभी से ही इसकी तैयारियाँ शुरू कर दी है। पंजाब और हरियाणा से ट्रैक्टरों ने पहुँचना भी शुरू कर दिया है। पुलिस के द्वारा ट्रैक्टर रैली को रोके जाने के लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा है कि क्या अब ट्रैक्टर पर तिरंगा लगाने की भी आजादी नहीं है। साथ ही टिकैत ने यह भी कहा है कि इस मामले में पुलिस अपना काम करे हम अपना काम करेंगे।

दरअसल जैसे जैसे 26 जनवरी की तारीख नज़दीक आती जा रही है वैसे वैसे दिल्ली पुलिस किसानों के ट्रैक्टर परेड को रोकने के लिए रणनीति बना रही है। इसको लेकर किसान संगठनों और पुलिस अधिकारियों के बीच दो दौर की बैठक भी हो चुकी है। लेकिन इसके बावजूद भी किसान ट्रैक्टर परेड निकालने की मांग पर अड़े हुए हैं। ट्रैक्टर परेड को लेकर किसान नेता राकेश टिकैत ने एक टीवी डिबेट में कहा कि हम परेड में दिल्ली के लोगों को किसी भी तरह से परेशान नहीं करेंगे बल्कि दिल्ली पुलिस की सहायता भी करेंगे और व्यवस्था बनाये रखने में मदद भी करेंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि जब देश आजाद है तो किसानों को क्या अब ट्रैक्टर पर तिरंगा लगाने की भी आजादी नहीं है।

ट्रैक्टर परेड को लेकर राकेश टिकैत ने आगे कहा कि पहले तो सरकार कह रही थी कि इस आंदोलन में गलत लोग बैठे हैं और प्रतिबंधित संगठन के लोग शामिल हैं लेकिन अब कह रहे हैं कि तिरंगा झंडा भी नहीं फहरा सकते हैं। जबकि हम लोग अपने अपने ट्रैक्टर पर तिरंगा झंडा लगाकर आयेंगे क्योंकि हमारी आस्था भारत के झंडे में है। साथ ही उन्होंने कहा कि हमने पुलिस को यह भी कह दिया है कि आप भी हमारा सहयोग करें, हम भी आपका सहयोग करेंगे। इसके अलावा डिबेट में उन्होंने कहा कि हम दिल्ली के लोगों से आग्रह करते हैं कि वे किसानों के ट्रैक्टर परेड का स्वागत करें और उनपर फूलों की बारिश करें।   

आपको बता दूँ कि ट्रैक्टर परेड पर सुप्रीम कोर्ट ने किसी भी तरह की रोक को लगाने से इनकार कर दिया था और कहा कि पुलिस खुद ही इस मामले को अपने स्तर से देखे। हालाँकि अभी तक किसान संगठनों ने कहा है कि वे बाहरी रिंग रोड पर शांतिपूर्वक तरीके से ही ट्रैक्टर परेड निकालेंगे।

Next Stories
1 मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो के नाम पर आटा बेच कर रहा था कमाई, चार गिरफ्तार
2 बिहार के सारे थानों में शराब का धंधा, जनप्रतिनिधि भी शामिल- यह चिट्ठी लिखने वाले एसपी का हुआ तबादला
3 इंडिया टुडे के सर्वे में योगी आदित्यनाथ सबसे बेहतरीन मुख्यमंत्री, चौथे नंबर पर फिसलीं ममता बनर्जी
ये पढ़ा क्या?
X