BKU के राकेश टिकैत बोले- रेड कार्पेट पर हुई गिरफ्तारी, गुलदस्तों के साथ हो रही पूछताछ, कहा- अजय मिश्रा दें इस्तीफा, आशीष को भेजा जाए आगरा जेल

राकेश टिकैत कह रहे हैं कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की रेड कारपेट पर गिरफ्तारी हुई है और उससे गुलदस्तों के साथ पूछताछ हो रही है।

Rakesh Tikait
यूपी के लखीमपुर में हुई हिंसा का मामला अभी तक ठंडा नहीं हुआ है। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैट इस मुद्दे को लेकर लगातार योगी सरकार और केंद्र सरकार को घेर रहे हैं। (फोटो सोर्स- ANI)

यूपी के लखीमपुर में हुई हिंसा का मामला अभी तक ठंडा नहीं हुआ है। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैट इस मुद्दे को लेकर लगातार योगी सरकार और केंद्र सरकार को घेर रहे हैं।

वह कह रहे हैं कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा की रेड कारपेट पर गिरफ्तारी हुई है और उससे गुलदस्तों के साथ पूछताछ हो रही है।

उन्होंने मांग की है कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा इस्तीफा दें और उनके बेटे आशीष मिश्रा को आगरा की जेल भेजा जाए। उन्होंने कहा कि अगर किसानों की मांगें नहीं मानीं तो आंदोलन किया जाएगा। राकेश टिकैट ने ये बातें मीडिया से बातचीत के दौरान कहीं।

इससे पहले भी टिकैत ने कहा था कि जब तक अजय मिश्रा टेनी की गिरफ्तारी नहीं होगी और जब तक वह इस्तीफा नहीं देंगे, तब तक प्रशासन के लोग भी कुछ नहीं कर सकते।

उन्होंने कहा था कि अजय मिश्रा देश के गृह राज्य मंत्री हैं, उसके बेटे से भला कौन पूछताछ कर सकता है। इसलिए जो अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं, उनके नाम गुप्त रखे जाना चाहिए। इसलिए दोनों लोग गिरफ्तार हों और उनका मंत्री पद भी जाना चाहिए, उसके बाद ही जांच की शुरुआत हो पाएगी।

टिकैट ने कहा कि गेस्ट हाउस में किससे पूछताछ होती है? पूछताछ तो रात में थाने में की जाती है, दिन में कोई पूछताछ नहीं होती। उन्होंने कहा कि इन बाप-बेटों को आगरा की जेल में बंद करके पूछताछ की जानी चाहिए, तभी ये बताएंगे कि इनके गैंग में कौन लोग शामिल हैं।

उन्होंने कहा कि अगर वकील की मौजूदगी में माला डालकर पूछताछ होगी तो ये कानून तो दूसरो के लिए भी लागू हो जाएगा। ये पूरा देश बंधन से मुक्ति चाहता है।

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के प्रवक्ता टिकैत का कहना है कि जब तक आरोपी आशीष मिश्रा के पिता अजय मिश्रा मंत्री पद पर बने हुए हैं, तब तक निष्पक्ष जांच का होना संभव नहीं है। इसलिए अजय मिश्रा अपने पद से इस्तीफा दें।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट