राकेश टिकैत हैं ‘डकैत’, ‘सिखिस्तान’ से प्रेरित है किसान आंदोलन- BJP सांसद का दावा

भाजपा सांसद अक्षयवरलाल गोंड ने किसान नेता राकेश टिकैत को डकैत बताया है। योगी सरकार के साढे़ चार वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में बहराइच के सांसद ने भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के ऊपर अपमानजनक शब्द का प्रयोग किया।

farmers, BKU
किसान कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। (एक्सप्रेस फोटो)।

भाजपा सांसद अक्षयवरलाल गोंड ने किसान नेता राकेश टिकैत को डकैत बताया है। योगी सरकार के साढे़ चार वर्ष पूरा होने के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में बहराइच के सांसद ने भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के ऊपर अपमानजनक शब्द का प्रयोग कर दिया। भाजपा सांसद ने कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित कार्यक्रम में किसान आंदोलन को पाकिस्तान से प्रेरित बताया।

भाजपा सांसद ने ने कहा कि कोई भी किसान आंदोलन नहीं कर रहा है। जो आंदोलन कर रहे हैं वह किसान नहीं डकैत हैं। हालांकि, यह पहला मौका नहीं है जब किसी बीजेपी नेता ने किसान आंदोलन या फिर राकेश टिकैत को लेकर अपमानजनक टिप्पणी की हो। इससे पहले भी कई नेता किसान आंदोलन को खालिस्तान से प्रेरित बता चुके हैं। खुद हरियाणा सीएम भी ऐसा कह चुके हैं। कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मई ने भी कुछ ऐसी ही टिप्पणी सोमवार को असेंबली में की थी।

अक्षयवरलाल गोंड ने कहा कि किसान आंदोलन को कनाडा और दूसरे देशों से सहायता मिल रही है। पैसा विदेशों से आ रहा है तभी किसान लगातार धरने पर बैठे हैं। उनका कहना था कि अगर ये प्रदर्शनकारी असली किसान होते तो अभी तक धरनास्थलों पर खाने व दूध जैसी चीजों की कमी पड़ जाती, लेकिन विदेशी सहायता की वजह से ऐसा नहीं हो रहा है। गौरतलब है कि किसान पिछले कई महीनों से दिल्ली की सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं। सरकार से कई दौर की बातचीत के बाद भी कोई समाधान नहीं निकल रहा है।

राकेश टिकैत साफ कह चुके हैं कि तीनों कृषि कानूनों की वापसी हुए बगैर किसान अपने घरों को नहीं लौटने वाले। किसान नेता राकेश टिकैत ने केंद्र व प्रदेश सरकार की नीतियों पर निशाना साध किसान आंदोलन को 33 माह तक चलाने का उन्होंने ऐलान किया। तीनों काले कानून की वापसी तक घर न जाने की बात कही।

उधर, उनके वक्तव्य के बाद मामला तूल पकड़ने लगा है। भाजपा सांसद की टिप्पणी से आहत भारतीय किसान यूनियन के निवर्तमान जिला अध्यक्ष ओम प्रकाश वर्मा के नेतृत्व में किसानों ने जिलाध्यक्ष के आवास पर एक बैठक की। भारतीय किसान यूनियन ने भाजपा सांसद के बयान का विरोध कर चेतावनी दी है कि अगर सांसद के खिलाफ केस दर्ज कर जेल नहीं भेजा गया तो भाकियू कार्यकर्ता मुख्यालय पर आकर धरना प्रदर्शन करेंगे। उनका कहना है कि वर्कर्स रोड जाम करके अपना विरोध दर्ज कराएंगे।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट