ताज़ा खबर
 

अलवर के मंच पर राकेश टिकैत ने दिया नारा, ‘हम ही किसान, हम ही जवान’, बोले- रोटी तिजोरी में बंद नहीं होगी

टिकैत ने केंद्र से एमएसपी पर कानून बनाने और तीनों कृषि बिलों को वापस लेने की मांग की।

किसान नेता राकेश टिकैत। (ANI)

केंद्र के तीन कृषि बिलों के खिलाफ किसान प्रदर्शन का प्रमुख चेहरा बने राकेश टिकैत ने ‘हम ही किसान और हम ही जवान’ का नारा दिया है। उन्होंने गुरुवार को अलवर के झालाटाल में किसान महापंचायत में ये नारा दिया। उन्होंने कहा- हल चलाने वाला अब हाथ नहीं जोड़ेगा। हम ही किसान हैं और हम ही जवान हैं। अब अनाज तिजोरी में बंद नहीं होगा। ये भूख का व्यापार करने वाले लोग हैं, और भूख पर रोटी की कीमत तय नहीं होने देंगे। रोटी को तिजोरी में बंद नहीं होने दिया जाएगा और ना ही इसे बाजार की वस्तु बनने दिया जाएगा।

इधर के टीवी साक्षात्कार में टिकैत ने केंद्र से एमएसपी पर कानून बनाने और तीनों कृषि बिलों को वापस लेने की मांग की। उन्होंने मांग की कि केंद्र स्वामीनाथन रिपोर्ट रिपोर्ट को लागू करे। कानून वापस ना लेने के सवाल पर उन्होंने कहा कि किसान क्या घर वापस जाने वाला है? किसान भी यहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि हम अपना मोर्चा मजबूत करेंगे और पूरे देश में जाएंगे। उन्होंने कहा कि अभी हरियाणा में हमारी सभाए हैं, सभी जगह सभाएं हैं। यूपी मे भी हैं।

मालूम किसान नेता राकेश टिकैत महाराष्ट्र के यवतमाल जिले में 20 फरवरी को ‘किसान महापंचायत’ को संबोधित करेंगे। कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली से लगी सीमाओं पर 40 किसान संगठनों के विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने यह जानकारी दी। एसकेएम के महाराष्ट्र के समन्वयक संदीप गिड्डे ने बताया कि टिकैत, युदवीर सिंह और एसकेएम के कई अन्य नेता 20 फरवरी को यवतमाल शहर के आजाद मैदान में आयोजित होने वाली ‘किसान महापंचायत’ को संबोधित करेंगे।

उन्होंने कहा, ‘टिकैत महाराष्ट्र में किसान महापंचायत की शुरुआत यवतमाल से करना चाहते हैं, जहां कई किसानों ने आत्महत्या की है।’ ‘किसान महापंचायत’ में विदर्भ और महाराष्ट्र के अन्य हिस्सों से भी किसानों के आने की संभावना है। महापंचायत के आयोजन के लिए प्रशासन से अनुमति मांगी गई है। यवतमाल के एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि आयोजकों ने कार्यक्रम के लिए इजाजत मांगी है। (एजेंसी इनपुट)

Next Stories
1 संबित पात्रा बोले- कांग्रेस का विश्वास तो अध्यक्ष पर भी नहीं, मैं पत्थर पर जाकर सिर फोड़ूं, इससे कोई फायदा नहीं
2 ट्विटर मामले में भाजपा सांसद बोले- क्या मोदी को पॉपुलर करने के लिए ‘गंदी भाषा’ और IT सेल की होगी जांच
3 केंद्रीय मंत्री ने राहुल गांधी को कहा- कुंदबुद्धि पप्पू, बोले- सुपारी लेकर देश को बदनाम कर रहे
ये पढ़ा क्या?
X