ताज़ा खबर
 

‘पाक ने एक भी गोली चलाई, तो हम बौछार कर देंगे

गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा भारत सीमा पर पहले गोलीबारी नहीं करेगा और हम इसके लिए प्रतिबद्ध हैं, लेकिन अगर पड़ोसी मुल्क की ओर से गोलीबारी हुई तो जबाव देने में हमारी सेना पीछे नहीं रहेगी।

Author देहरादून (उत्तराखंड) | February 28, 2016 2:13 AM
केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह (एएनआई फोटो)

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि अगर पाकिस्तान हमारे सैनिकों पर एक भी गोली दागेगा तो हम उस पर गोलियों की बौछार कर देंगे। उन्होंने पाकिस्तान की किसी भी हरकत को अब देश बर्दाश्त नहीं करेगा। गृहमंत्री शनिवार को यहां कुमांऊ मंडल के खटीमा विधानसभा क्षेत्र में दो दिवसीय खटीमा महोत्सव का उद्घाटन करने के बाद उपस्थित लोगों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा, ‘हमारी नीति सभी पड़ोसी देशों से मित्रतापूर्ण संबंध बनाने की है। लेकिन यदि कोई हमारा पड़ोसी देश हमारे अस्तित्व को ललकारेगा तो उसे मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।’ उन्होंने नेपाल को भारत का मित्र राष्टÑ बताते हुए कहा कि देवभूमि उत्तराखंड और नेपाल के लोगों के बीच रोटी-बेटी का भी संबंध है। नेपाल में जब-जब संकट आया तो भारत नेपाल के साथ खड़ा दिखाई दिया है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि देवभूमि उत्तराखंड वीरों की भूमि है। यहां के अधिकांश लोग भारतीय सेना और अन्य केंद्रीय सुरक्षा बलों में सेवा देकर राष्ट्र की रक्षा में जुटे हैं। केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा कि एनडीए की अटल बिहारी वाजपेयी सरकार ने उत्तराखंड को विशेष राज्य का दर्जा दिया था। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में एनडीए सरकार उत्तराखंड के चारो धामों बदरीनाथ, केदारनाथ गंगोत्री और यमुनोत्री के विकास के लिए 11 हजार करोड़ का विशेष पैकेज लेकर आ रही है। इसके साथ ही रामपुर-काठगोदाम राष्ट्रीय राजमार्ग को फोर लेन का बनाया जा रहा है। सितारगंज से टनकपुर तक हाइवे का निर्माण किया जा रहा है। खटीमा तक रेल की बड़ी लाईन बिछाई जा रही है।

उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में केंद्रीय सुरक्षा बलों की भर्ती मेले का आयोजन किया जाएगा। ताकि यहां के बहादुर युवकों को रोजगार मिल सके। समारोह में राजनाथ सिंह देश की रक्षा में जान गंवाने वाले 30 शहीदों के परिजनों को वीरता सम्मान से सम्मानित किया। कार्यक्रम का संचालन खटीमा के विधायक पुष्कर सिंह धामी ने किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App