ताज़ा खबर
 

रूसी अफसर ने मिलाने को बढ़ाया हाथ, राजनाथ सिंह ने जोड़ कर किया नमस्ते, वीडियो हो रहा वायरल

सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो रहा है। रक्षा मंत्रालय के ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो शेयर किया गया है, जिसमें वो रूसी अधिकारियों से हाथ मिलाने के बजाय हाथ जोड़कर पारंपरिक तरीके से नमस्ते करते नजर आ रहे हैं।

रक्षा मंत्रालय के ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो शेयर किया गया है, जिसमें वो रूसी अधिकारियों से हाथ मिलाने के बजाय हाथ जोड़कर पारंपरिक तरीके से नमस्ते करते नजर आ रहे हैं। (फोटो-Twitter)

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) की बैठक में हिस्सा लेने के लिए बुधवार को रूस की राजधानी मास्को पहुंचे। सिंह यहां एससीओ की एक महत्वपूर्ण बैठक में हिस्सा लेने के साथ ही रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगू से मुलाकात करके द्विपक्षीय रक्षा सहयोग बढ़ाने पर चर्चा करेंगे।

रूस पहुंचने पर वहां के अधिकारियों ने राजनाथ सिंह का स्वागत किया। इस दौरान एक अधिकारी ने राजनाथ सिंह से हाथ मिलाने के लिए आगे बढ़ाया इस पर रक्षा मंत्री ने दूर से ही हाथ जोड़कर नमस्ते कर लिया। सोशल मीडिया पर यह वीडियो वायरल हो रहा है। रक्षा मंत्रालय के ट्विटर अकाउंट से एक वीडियो  शेयर किया गया है, जिसमें वो रूसी अधिकारियों से हाथ मिलाने के बजाय हाथ जोड़कर पारंपरिक तरीके से नमस्ते करते नजर आ रहे हैं।

ट्विटर पर लोग इस वीडियो पर प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं।  @Rksrocking ने लिखा है, सर आपके इस व्यवहार से लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग में मदद मिलेगी। एक अन्य यूजर ने लिखा है, कितना अच्छा लगता है जब।।।सात समंदर पार भी नमस्ते होता है। बस एक बार चीन को औकात दिखाना जरूरी है,उसे बताना जरूरी है कि ये मोदी सरकार है,नेहरू सरकार नही।

अधिकारियों ने बताया कि एससीओ सदस्य देशों के सभी आठ रक्षा मंत्री आतंकवाद, अतिवाद जैसी क्षेत्रीय सुरक्षा चुनौतियों और उनसे एकजुट होकर निपटने के तरीकों पर चर्चा करेंगे। भारतीय दूतावास ने ट्वीट किया,‘‘रक्षा मंत्री श्री राजनाथ सिंह रूस की तीन दिवसीय यात्रा पर मॉस्को पहुंच गए। मेजर जनरल बुखतीव यूरी निकोलाईविच ने हवाई अड्डे पर उनकी अगवानी की।’’ यह बैठक ऐसे समय हो रही है जब संगठन के दो प्रमुख सदस्य देश भारत और चीन के बीच सीमा पर गतिरोध है। रक्षा मंत्री ने ट्वीट किया, ‘‘आज शाम मॉस्को पहुंचा। रूसी रक्षा मंत्री जनरल सर्गेई शोइगू के साथ कल द्विपक्षीय बैठक का इंतजार कर रहा हूं।’’ चीन के रक्षा मंत्री जनरल वेई फेंघे और पाकिस्तानी रक्षा मंत्री परवेज खटक के भी एससीओ की बैठक में हिस्सा लेने की उम्मीद है।

अधिकारियों ने कहा कि सिंह रूसी पक्ष से भारत को एस-400 मिसाइल रक्षा प्रणालियों की समय पर आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए अनुरोध करेंगे। भारत को एस-400 सतह से हवा में मार करने वाली मिसाइल प्रणाली की पहले खेप की आपूर्ति 2021 के अंत तक निर्धारित है। जून के बाद सिंह की यह दूसरी मास्को यात्रा है। उन्होंने 24 जून को मास्को में विजय दिवस परेड में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। विजय दिवस परेड का आयोजन द्वितीय विश्वयुद्ध में नाजी जर्मनी पर सोवियत विजय की 75 वीं वर्षगांठ पर किया गया था।

(भाषा इनपुट्स के साथ)

Next Stories
1 पीएम केयर्स फंड में नरेंद्र मोदी ने अपनी जेब से दिए 2.25 लाख रुपये, गंगा के लिए भी दान कर चुके हैं 1.3 करोड़, अब तक कुल डोनेशन 103 करोड़
2 सरहद पर तनाव झेल नहीं पाएगा भारत- मायनस 24 फ़ीसदी जीडीपी पर ग्लोबल टाइम्स ने लगाया मौक़े पर चौका
3 ‘इनके चेहरे पहचान लीजिए, बहिष्कार कीजिए, हमारे आत्मसम्मान को चुनौती दी है’, लाइव शो में चिल्लाने लगे अर्नब गोस्वामी
ये पढ़ा क्या ?
X