ताज़ा खबर
 

सुकमा अटैक पर बोले राजनाथ सिंह, कहा- आदिवासियों को चारे की तरह इस्तेमाल करते हैं नक्सली

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में नक्सली हमले में शहीद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 25 जवानों को गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज श्रद्धांजलि अर्पित की।

Author रायपुर | Updated: April 25, 2017 3:54 PM
शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने पहुंचे राजनाथ सिंह

केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि वामपंथी उग्रवाद के खिलाफ लड़ाई की रणनीति का अवलोकन किया जाएगा और जरूरत पड़ने पर उस पर पुन: विचार किया जाएगा ताकि माओवादियों के खिलाफ निर्णायक लड़ाई लड़ी जा सके। सिंह ने रायपुर के माना स्थित चौथी बटालियन में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद मुख्यमंत्री रमन सिंह तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की।
बैठक के बाद संवाददाताओं के साथ बातचीत में गृहमंत्री ने इस हमले को नक्सलियों की कायराना हरकत बताया और कहा कि क्षेत्र में हो रहे विकास से नक्सली बौखलाए हुए हैं। इसलिए ऐसी घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि शहीदों की शहादत बेकार नहीं जाएगी। सिंह ने संकेत दिए कि लड़ाई की रणनीति के संबंध में आठ मई को एक महत्वपूर्ण बैठक होगी।

छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में कल नक्सली हमले में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के 25 जवान शहीद हो गए थे। शहीदों को गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत छत्तीसगढ़ के राज्यपाल बलीरामजीदास चंदन, मुख्यमंत्री रमन सिंह और मंत्रिमंडल के सदस्यों ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की।

सुकमा जिले के चिंतागुफा थाना क्षेत्र के अंतर्गत बुरकापाल गांव के करीब नक्सलियों ने पुलिस दल पर घात लगाकर हमला किया था।
चिंतागुफा थाना क्षेत्र में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की 74वीं बटालियन की दो कंपनियों को बुरकापाल से चिंतागुफा के मध्य बन रही सड़क की सुरक्षा में रवाना किया गया था। दल जब बुरकापाल से लगभग डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर था तब नक्सलियों ने पुलिस दल पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद पुलिस दल ने भी जवाबी कार्रवाई की।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 गाय को आधार कार्ड मामले पर भड़के दिग्विजय सिंह, कहा – मोदी जी को क्या हो गया है ?
2 टीवी पत्रकार ने पूछा गैर भाजपा सरकार में नक्सली हमले होते ही गृह मंत्री से मांगे जाते थे इस्तीफे अब क्यों नहीं
3 पुलिस अधिकारियों को मनमाने तरीके से नहीं हटा सकेंगे राजनेता: सुप्रीम कोर्ट
ये पढ़ा क्या?
X