ताज़ा खबर
 

नीतीश-लालू के आते ही बिहार में जंगलराज लौटा : रूडी

केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि नीतीश लालू की सरकार आते ही बिहार में हत्या, अपहरण, फिरौती का फिर से जंगल राज कायम हो गया..

Author वाराणसी | January 1, 2016 1:45 AM
केन्द्रीय कौशल विकास मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) राजीव प्रताप रूढ़ी। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री राजीव प्रताप रूडी ने कहा कि नीतीश लालू की सरकार आते ही बिहार में हत्या, अपहरण, फिरौती का फिर से जंगल राज कायम हो गया। रूडी वाराणसी के दो दिवसीय दौरे पर मंगलवार को सायंकाल कचहरी रोड स्थित होटल रेगार्ड में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बिहार की जनता ने नीतीश कुमार और लालू प्रसाद यादव को बहुमत दिया है तो अब जनता को ही झेलना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि नीतीश तो सिर्फ सीएम हैं लेकिन लालू प्रसाद यादव सुपर सीएम को जवाब देना चाहिए।

राजीव प्रताप रूडी पीडब्लूडी कालोनी के समीप प्रधानमंत्री कौशल विकास केंद्र के मॉडल सेंटर का शुरुआत भी किया। उन्होंने कहा कि बिहार में कानून व्यवस्था चिंतनीय है। बिहार में भाजपा चुनाव हार गई है इसलिए कुछ नहीं कहेंगे तो लोग यह सोचेंगे कि भाजपा अपनी हार पचा नहीं पा रही है। उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री के बारे में कहा कि राजनीति में नाकाम व्यक्ति का नाम ही केजरीवाल है। वह अपनी विफलता को छुपाने और भ्रष्टाचार से जुड़े भ्रष्ट सचिव को बचाने के लिए नाटक कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आइटीआइ में निजी भागीदारी से गुणवत्ता में गिरावट आई है। ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरुआत किए गए कौशल विकास केंद्र बेरोजगार और स्वरोजगार दोनों के लिए अच्छा साबित हो सकता है।

उन्होंने कहा कि पीएम ने कौशल विकास उद्यमिता का अलग मंत्रालय खोले हैं जिसके जरिए ज्यादा से ज्यादा युवाओं को रोजगार से जोड़ा जा सकता है। पहली बार इस मंत्रालय ने देशभर में 116 संसदीय क्षेत्र में कौशल विकास केंद्र की स्थापना की है। इसमें पांच लाख लोगों को प्रशिक्षित किया गया है। देश के 36 सेंटर में 5 करोड़ प्रशिक्षित लोगों की जरूरत है और इसके लिए स्कूली शिक्षा को भी जोड़ा गया है। जो शिक्षा से वंचित हैं उन लोगों के लिए मॉडल सेंटर के जरिए प्रशिक्षित कर रोजगार उपलब्ध कराए जाएंगे। योजना में ट्रेड से जुड़े लोगों को स्वरोजगार दिलाने के लिए मुद्रा बैंक ने आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराए जाएंगे। उन्होंने कहा कि वाराणसी में पहला सेंटर मॉडल के तौर पर खोला गया है इस दौरान उन्होंने 101 ई- रिक्शा भी बांटे। करौंदी स्थित आइटीआइ की व्यवस्था को देखते हुए उन्होंने कहा कि यह आदम जमाने की मशीनें अब हटा कर इसके जगह नई तकनीकी कौशल विकास से जुड़े मशीनें मंगाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि अब यूपी में दूसरा मॉडल आइटीआइ में स्थापित किए जाएंगे। इस दौरान उन्होंने नरिया क्षेत्र में गरीब लोगों को माइक्रो क्रेडिट की ओर से ई-रिक्शे को भी बांटा है। उन्होंने नेशनल स्किल डेपलपमेंट के तहत पीएम कौशल विकास केंद्र का उद्घाटन किया। रूडी ने इस दौरान बताया कि कौशल विकास के जरिए टेलरिंग हैंड इम्ब्राइडरी, उत्पादन सेंटर में आइटी, एविएशन, ब्यूटीशियन, सुरक्षा के विभिन्न प्रशिक्षण दिया जाएगा। रूडी से जब सवाल पूछा गया कि क्या बिहार में हो रहे अपराधिक घटनाओं की जांच सीबीआइ से कराई जाएगी तो इस पर उन्होंने कोई जवाब देने से इनकार कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App