ताज़ा खबर
 

रेप केस में फैसला सुनाते हुए कोर्ट ने कहा- अब भी नहीं सुधरे तो बेटी देने से भगवान भी घबराएगा

आरोपी विनोद बंजारा फेरी लगाकर बर्तन बेचने का काम करता है। 2 अगस्त को वह झुंझुनूं जिले के डाबड़ी धीर सिंह गांव पहुंचा था। वहीं गांव में एक बच्ची अपने ननिहाल आयी हुई थी।

राजस्थान के झुंझुनूं की घटना।(प्रतीकात्मक तस्वीर)

राजस्थान के झुंझुनूं जिले में एक अदालत ने 3 साल की बच्ची से बलात्कार के आरोपी को फांसी की सजा सुनायी है। गौरतलब है कि न्यायालय ने महज 19 दिनों में 21 वर्षीय आरोपी विनोद बंजारा को दुष्कर्म का दोषी ठहराते हुए उसे फांसी की सजा दी है। अपना फैसला सुनाते हुए पाक्सो कोर्ट की जज नीरजा दाधीच ने मामले को दुर्लभतम बताते हुए एक मार्मिक बात भी कही। जज ने एक कविता के जरिए कहा कि यदि हम अब भी नहीं सुधरे तो बेटी देने से भगवान भी घबराएगा। मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म की यह घटना 2 अगस्त की है।

दरअसल आरोपी विनोद बंजारा फेरी लगाकर बर्तन बेचने का काम करता है। 2 अगस्त को वह झुंझुनूं जिले के डाबड़ी धीर सिंह गांव पहुंचा था। वहीं गांव में एक बच्ची अपने ननिहाल आयी हुई थी। इस पर आरोपी ने मासूम बच्ची को घर में अकेला पाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और भाग गया। इसके बाद पुलिस ने 3 अगस्त को चिड़ावा में किराए के मकान से गिरफ्तार कर लिया था। पुलिस ने 11 दिन में ही आरोपी के खिलाफ चालान पेश कर दिया और अदालत ने भी 19 दिनों में ही आरोपी को फांसी का सजा सुना दी।

उल्लेखनीय है कि दुष्कर्म के आरोपी विनोद बंजारा की पत्नी ने भी हाल ही में एक बेटी को जन्म दिया है। वहीं जब अदालत ने दोषी को फांसी की सजा सुनायी उस वक्त वह अदालत में चुपचाप खड़ा रहा। बता दें कि जघन्य अपराध के चलते किसी वकील ने आरोपी की पैरवी नहीं की। इसके बाद सरकार ने विधिक सहायता के तहत उसे वकील मुहैया कराया। पोक्सो अदालत में विशेष लोक अभियोजक नंद किशोर ने कहा कि यह पहली बार हुआ है कि अदालत में चालान पेश होने के 20 दिन के अंदर दुष्कर्म के अपराधी को मौत की सजा सुनाई गई हो। नंद किशोर ने कहा, “मामले की जांच के लिए पुलिस ने विशेष टीम का गठन किया। सीसीटीवी कैमरे की सहायता से आरोपी की पहचान की गई और उसे तीन अगस्त को गिरफ्तार कर लिया गया जहां उसने अपना अपराध कबूल कर लिया।”

(एजेंसी इनपुट)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App