scorecardresearch

जुबानी बयां किए राजस्थान के हालात तो सोनिया ने लिखित में मांगी रिपोर्ट, माकन बोले- गहलोत गुट के 102 विधायकों की मांग- उनके बीच से बने सीएम

Rajasthan Congress: कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी सोमवार को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर पहुंचीं और अजय माकन, मल्लिकार्जुन खड़गे, केसी वेणुगोपाल और कमलनाथ सहित पार्टी के कई नेताओं ने पार्टी प्रमुख से मुलाकात की।

जुबानी बयां किए राजस्थान के हालात तो सोनिया ने लिखित में मांगी रिपोर्ट, माकन बोले- गहलोत गुट के 102 विधायकों की मांग- उनके बीच से बने सीएम
कांग्रेस नेता अजय माकन(फोटो सोर्स: ANI)।

Rajasthan Political Crisis: राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के समर्थन देने वाले 102 विधायकों की मांग है कि गहलोत के बाद राजस्थान का सीएम उनके ही बीच से बनाया जाए। बता दें कि गहलोत समर्थक नहीं चाहते कि राज्य की कमान सचिन पायलट को सौंपी जाए। ऐसे में राजस्थान में हो रही पार्टी की फजीहत से निपटने के लिए आलाकमान ने केंद्रीय पर्यवेक्षकों को जयपुर भेजा था।

बता दें कि जयपुर में हुए घटनाक्रम की रिपोर्ट को पर्यवेक्षक अजय माकन और खड़गे ने कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी को सौंपी है। मुलाकात के बाद पार्टी पर्यवेक्षक अजय माकन ने कहा कि मल्लिकार्जुन खड़गे और मैंने राजस्थान में हमारी बैठकों के बारे में कांग्रेस प्रमुख को विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने हमसे इस संबंध में लिखित में रिपोर्ट मांगी। हम यह रिपोर्ट आज रात या कल तक दे देंगे।

माकन ने कहा, “अशोक गहलोत के 102 समर्थक विधायकों ने हमसे कहा था कि उनके बीच से ही किसी को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए। हमने उनसे कहा कि उनकी जो भी मांगे हैं, उसे पार्टी प्रमुख के सामने रखी जाएगी। पारित प्रस्तावों के लिए कोई शर्त नहीं है। विचार-विमर्श के बाद पार्टी अध्यक्ष तय करेंगी कि आखिर कौन सीएम बनेगा।”

दरअसल रविवार(25 सितंबर) को बनी स्थिति से निपटने के लिए कांग्रेस आलाकमान ने पार्टी में पर्यवेक्षक अजय माकन और मल्लिकार्जुन खड़गे को असल स्थिति पता करने के लिए जयपुर भेजा था। एडीटीवी ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि इस दौरान अशोक गहलोत ने केंद्रीय पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे से माफी मांगी है।

विधायकों की बगावत को गहलोत ने गलती बताया और कहा कि ऐसा नहीं होना चाहिए था। इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा था कि उनका इससे कोई लेना-देना नहीं है।

वहीं सोमवार को राजस्थान सरकार में मंत्री शांति धारीवाल ने कहा है कि राजस्थान के MLA गद्दारों को पुरस्कृत करना बर्दाश्त नहीं करेंगे। ऐसे व्यक्ति को CM बनाने के लिए एक महासचिव खुद प्रचार कर रहे हैं, ऐसे में ज़ाहिर तौर पर MLA को नाराज़ होना ही था। मेरे पास नाराज़ MLA के फोन आए। उन्होंने कहा कि हम 34 दिन (2020) तक होटलों में इकट्ठा हुए थे आप उनमें से किसी को भी मुख्यमंत्री बनाओ। सोनिया जी जिसे कहेंगी उसे मुख्यमंत्री बनाया जाएगा।

बता दें कि कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा भी सोमवार को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के आवास पर पहुंचीं और अजय माकन, मल्लिकार्जुन खड़गे, केसी वेणुगोपाल और कमलनाथ सहित पार्टी के कई नेताओं ने पार्टी प्रमुख से मुलाकात की।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 26-09-2022 at 09:03:08 pm
अपडेट