ताज़ा खबर
 

राजस्थान सीएम बोले- मुझे अपने माता-पिता के जन्मस्थान का पता नहीं, NPR लागू हुआ तो सबसे पहले डिटेंशन सेंटर भेजा जाउंगा

सीएम ने कहा कि अन्य लोगों की तरह ही उनके पास भी अपने माता-पिता के जन्मस्थान की जानकारी नहीं है ऐसे में उन्हें भी मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः रोहित जैन पारस)

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि अगर राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) लागू हुआ तो सबसे पहले उन्हें ही डिटेंशन सेंटर जाना पड़ेगा। गहलोत ने मोदी सरकार से संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) भी वापस लेने को कहा है। सीएम ने कहा कि अन्य लोगों की तरह ही उनके पास भी अपने माता-पिता के जन्मस्थान की जानकारी नहीं है ऐसे में उन्हें भी मुश्किल का सामना करना पड़ सकता है।

सीएम शुक्रवार को जयपुर में शहीद स्मारक में सीएए के खिलाफ धरना दे रहे लोगों के बीच पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा ‘घबराने की कोई जरूरत नहीं है। आपसे पहले मैं डिटेंशन कैंप जाऊंगा। मैं राज्य में सीएए, एनआरसी और एनपीआर लागू नहीं होने दूंगा। जैसे नरेंद्र मोदी देश के चुने हुए प्रधानमंत्री हैं तो मैं भी राजस्थान की जनता का चुना हुआ मुख्यमंत्री हूं। अन्य लोगों की तरह ही उनके पास भी अपने माता-पिता के जन्मस्थान की जानकारी नहीं है ऐसे में मैं भी डिटेंशन सेंटर भेजा जाउंगा। किसी व्यक्ति को डिटेंशन कैंप में नहीं जाने दिया जाएगा।’

उन्होंने आगे कहा ‘सीएए देश और संविधान के खिलाफ है। यह टेक्नीकली लागू नहीं हो सकता है। जो कानून टेक्नीकल तौर पर लागू नहीं किया जा सकता तो उसे लागू क्यों किया जा रहा है। असम में तो बीजेपी की सरकार है लेकिन वहां की सरकार भी इसका विरोध कर रही है।सरकार को इस कानून को वापस लेना चाहिए ताकि देश में शांति व सद्भाव बना रहे।’

बता दें कि एनपीआर में पिता और माता के जन्म स्थान की जानकारी भी मांगी जा रही है। राजस्थान समेत कई अन्य राज्य भी इसके खिलाफ आवाज उठा रहे हैं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कई मौकों पर कह चुकी हैं कि वह इसे  लागू नहीं होने देंगी। वहीं केंद्र सरकार का कहना है कि संवैधानिक तौर पर राज्यों को यह अधिकार नहीं कि वह इसकों लागू होने से रोक सकें।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 अमित शाह से मुलाकात करेंगी शाहीन बाग में प्रदर्शन कर रही महिलाएं, रविवार को दोपहर 2 बजे पहुंचेंगी गृह मंत्री के आवास
2 Pulwama Attack: शहीद की विधवा सड़क पर सब्जी बेचने को मजबूर
3 Jammu Kahsmir: उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के बाद अब पूर्व IAS शाह फैसल पर भी लगा PSA
ये पढ़ा क्या?
X