ताज़ा खबर
 

जयपुर: नरेंद्र मोदी की रैली में काले कपड़ों पर बैन, कुछ लोगों का दावा- बनियान तक उतरवाई

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (7 जुलाई) को राजस्थान के अपने एक दिवसीय दौरे के तहत सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों से सीधे संवाद किया। इसके लिए प्रधानमंत्री-लाभार्थी जनसंवाद नाम से रैली का आयोजन किया गया लेकिन इस मौके पर वे लोग रैली पंडाल में कथित तौर पर प्रवेश नहीं पा सके जिन्होंने काले कपड़े पहने हुए थे।

तस्वीर का इस्तेमाल केवल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (सोर्स- एक्सप्रेस फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार (7 जुलाई) को राजस्थान के अपने एक दिवसीय दौरे के तहत सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों से सीधे संवाद किया। इसके लिए प्रधानमंत्री-लाभार्थी जनसंवाद नाम से रैली का आयोजन किया गया लेकिन इस मौके पर वे लोग रैली पंडाल में कथित तौर पर प्रवेश नहीं पा सके जिन्होंने काले कपड़े पहने हुए थे। जिन लोगों ने काली शर्ट, काली पैंट या काली बनियान में से कोई भी कपड़ा पहना हुआ, उन्हें भी एंट्री नहीं मिली। कुछ लोगों ने दावा किया कि प्रवेश द्वार पर सुरक्षा जांच के दौरान उनकी काली बनियान तक को उतरवाकर देखा गया और फिर लौटा दिया गया। एबीपी न्यूज ने ऐसे लोगों से बातचीत का एक वीडियो यूट्यूब चैनल पर अपलोड किया है। काले कपड़े पहनकर आने वाले लोगों ने रैली में शामिल न हो पाने पर मायूसी बयां की। किसी ने कहा कि उनके साथ आए बाकी लोग पंडाल में प्रवेश पा गए हैं लेकिन काले कपड़े पहने होने के कारण उन्हें बाहर रोक दिया गया। कुछ एक लोगों ने यहां तक दावा किया के उन्होंने शर्ट बदल ली लेकिन पेंट काली होने कारण उन्हें लौटा दिया गया।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इसी वर्ष झुंझनू में एक रैली के दौरान राज्य की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की रैली में कुछ लोगों ने विरोध स्वरूप काले झंडे दिखाए थे। इसी आशंका के चलते इस बार पहले से एहतियात बरती गई और रैली पंडाल में काले कपड़ों पर बैन लगा दिया गया। बता दें कि रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान को करीब 2100 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का उपहार दिया। पीएम मोदी ने 13 शहरी परियोजनाओं के शिलान्यास का अनावरण किया। इस दौरान सूबे की सरकार की 12 योजनाओं से लाभ पाने वाले लोगों के अनुभवों को भी ऑडियो विजुअल माध्यम से दिखाया गया, जिसका संचालन खुद सीएम राजे ने किया।

पीएम मोदी की रैली में राजस्थान के 12 योजनाओं के जिन लाभार्थियों से जनसंवाद किया गया, उनमें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, कौशल भारत, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम, मुख्यमंत्री राजश्री योजना, भामाशाह स्वास्थ्य योजना, मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन योजना, श्रमिक कल्याण कार्ड, मुख्यमंत्री पालनहार योजना, छात्रा स्कूटी वितरण योजना और दीनदयाल उपाध्याय वरिष्ठ नागरिक तीर्थ योजना के लाभार्थी शामिल रहे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App