ताज़ा खबर
 

हॉस्‍पिटल में भर्ती संबित पात्रा को रायपुुुर पुुुुलिस का नोटिस, CBI भी दर्ज करेगी कई बीजेपी नेताओं के बयान

वरिष्‍ठ पत्रकार विनोद दुआ ने फेसबुक पर रायपुर पुलिस द्वारा संबित पात्रा को हाजिर होने के लिए भेजे गए नोटिस की कॉपी पोस्‍ट करते हुए लिखा- शायद यह वजह (पात्रा के अस्‍पताल में भर्ती होने की) हो सकती है।

Sambit Patraभाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा। (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

कोरोना-काल में बीजेपी के कई नेता पुलिस और सीबीआई के चक्‍कर में फंस रहे हैं। भाजपा के प्रवक्‍ता संबित पात्रा को रायपुर पुलिस का नोटिस आया हुआ है। उन्‍हें 20 मई को बुलाया गया था। अब अगली तारीख दो जून की दी गई है। लेकिन, इससे पहले पात्रा 28 मई को गुरुग्राम के एक अस्‍पताल में भर्ती हो गए। ऐसे में वह दो जून को रायपुर जाा। पाएंगे या नही, कहा नहीं जा सकता।

उधर, चार जून को केंद्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो (सीबीआई) बाबरी मस्‍जिद विध्‍वंस मामले में भाजपा के कुछ नेताओं व अन्‍य आरोपियों के बयान दर्ज करने वाली है। इन बीजेपी नेताओं में लाल कृष्‍ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और उमा भारती शामिल हैं। लखनऊ स्‍थित सीबीआई की विशेष अदालत ने मामले के 32 आरोपियों से सवाल-जवाब शुरू करने के लिए चार जून की तारीख तय की है। कोर्ट ने सभी 32 आरोपियों को हाजिर होने का आदेश दिया है। जो हाजिर नहींं हो पाएंगे, उनके बयान वीडियो कॉन्‍फ्रेंस के जरिए दर्ज किए जाएंगे।

भर्ती होने पर कई लोग चुटकी ले रहे हैं। जन अधिकार पार्टी के नेता और पूर्व सांसद (मधेपुरा, बिहार) पप्‍पू यादव ने ट्वीट किया- संबित पात्रा जी में करोना के लक्षण का संदेह। वायरस का लक्षण तो 2014 से ही दिख रहा था। वह शीघ्र मानसिक और शारीरिक रूप से स्वस्थ हो जाएं! कोई पता करे कि वह किस मरकज में गए थे! प्लीज उनका कोई मज़ाक न बनाए!

वरिष्‍ठ पत्रकार विनोद दुआ ने फेसबुक पर रायपुर पुलिस द्वारा संबित पात्रा को हाजिर होने के लिए भेजे गए नोटिस की कॉपी पोस्‍ट करते हुए लिखा- शायद यह वजह (पात्रा के अस्‍पताल में भर्ती होने की) हो सकती है। अगली तारीख दो जून की मिली है। ऐसा मुझे किसी ने बताया है। इसकी पुष्‍टि करनी होगी।

विनोद दुआ ने जो नोटिस की फोटो पोस्‍ट की, उस पर 11 मई की तारीख है और उसके मुताबिक 20 मई को सुबह 11 बजे थाना सिविल लाइन (रायपुर) में संबित पात्रा को हाजिर होना था। उन्‍हें उनके खिलाफ दर्ज अपराध क्रमांक 200/220 (धारा 153ए, 298, 505 (2) के सिलसिले में बुलाया गया था। यह मामला पात्रा के एक ट्वीट से संबंधित है। इस ट्वीट में उन्‍होंने 1984 के सिख विरोधी दंगों के लिए कांग्रेस व उनके वरिष्‍ठ एवं दिवंगत नेताओं पर टिप्‍पणी की थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 दिल्ली: हॉस्पिटल में कोरोना से मरे लोगों की लाश रखने की जगह नहीं, फर्श पर पड़े हैं 28 शव, घाट से भी लौटानी पड़ीं बॉडीज