‘स्टैच्यू ऑफ यूनिटी’ में भरा बारिश का पानी, पर्यटकों ने VIDEO बना किए शेयर; 3000 करोड़ खर्च कर बनी है सरदार पटेल की यह मूर्ति

प्रतिमा के 153 मीटर की ऊंचाई पर व्यूइंग गैलरी है जहां से नजारा काफी विहंगम लगता है। इस गैलरी में करीब 200 लोग नजारे का आनंद उठाते हैं।खबर है कि इसी स्थान पर जलभराव हो गया है।

Statue of Unity, statue of unity rain, Statue of Unity, Sardar Sarovar Dam,
3000 करोड़ा की लागत से तैयार हुई इस प्रतिमा से बारिश के बाद पानी टपकने की खबर आ रही है।(फाइल फोटो)

गुजरात में बनी दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्टेच्यू ऑफ यूनिटी पहली ही बारिश में पानी का शिकार हो गई। 182 मीटर ऊंची देश के पहले गृह मंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा के सीने वाले हिस्से (दर्शक गैलरी) में बारिश का पानी जा घुसा। घूमने पहुंचे पर्यटकों का मजा जब पानी ने किरकिरा किया, तो उन्होंने फर्श पर फैले पानी और छत से टपकते पानी से जुड़े वीडियो बनाकर शेयर किए।

अधिकारियों के हवाले से ‘भाषा-पीटीई’ की रिपोर्ट में कहा गया कि 135 मीटर ऊंची इस गैलरी के सामने ग्रिल लगी है, जिससे भारी बारिश के दौरान तेज हवा के साथ पानी घुस जाता है। सोशल मीडिया पर जिन लोगों ने प्रतिमा में पानी घुसे से जुड़े वीडियो साझा किए, उन्होंने इस स्थिति पर बेहद निराशा जाहिर की।

हालांकि, पर्यटकों की संख्या देखते हुए जल्द से जल्द साफ-सफाई और मरम्मत कार्य कराने की खबर आई थी। दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा का निर्माण लार्सन एंड टुर्बो कंपनी ने किया है और वही इसके रख-रखाव का काम भी संभालती है।

सरदार पटेल की प्रतिमा देखने आए एक पर्यटक ने पत्रकारों को बताया था, “हम दुनिया की इस सबसे ऊंची प्रतिमा को देखने के लिए बड़ी आस के साथ आए थे, लेकिन हमें प्रतिमा के भीतर बारिश का पानी देखकर बेहद बुरा लगा। अभी तो भारी वर्षा हुई भी नहीं है, लेकिन मुख्य सभागार और दर्शक गैलरी में पानी भर गया है। यह दुर्भाग्यपूर्ण है।”

वहीं, इस मामले पर जिला कलेक्टर आईके पटेल बोले कि प्रतिमा के कुछ हिस्सों में रिसाव की समस्या है। हर संभव कोशिश कर इससे निजात पाने के प्रयास जारी हैं। दर्शक गैलरी का डिजाइन ही ऐसा है कि इसमें बरसात का पानी आए। इसे बंद करने पर यहां से वह नजारा नहीं दिखेगा। फिलहाल कोई तकनीकी समस्या नहीं है।

बता दें कि सूबे में नर्मदा जिले के केवड़िया में 182 मीटर ऊंची सरदार पटेल की यह मूर्ति दुनिया में सबसे ऊंची प्रतिमा है। पीएम नरेंद्र मोदी ने 31 अक्टूबर, 2018 को उसका अनावरण किया था।

पढें राष्ट्रीय समाचार (National News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।