ताज़ा खबर
 

INDIAN RAILWAYS ट्रेनों को 160 kmph की रफ्तार से दौड़ाने को तैयार, खर्च होंगे 18000 करोड़ रुपये!

अंतर्राष्ट्रीय रेल सम्मेलन 2019 और 13वीं अंतर्राष्ट्रीय रेलवे उपकरण प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद उन्होंने कहा एक बार परियोजना शुरू होने के बाद, इसे पूरा होने में कम से कम चार साल लगेंगे।

Author नई दिल्ली | Updated: October 23, 2019 9:47 AM
प्रतिकात्मक तस्वीर,(फोटो सोर्स: द इंडियन एक्सप्रेस)

Indian railways, railways new project: रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वी के यादव ने मंगलवार को कहा कि रेलवे बुनियादी ढांचे के उन्नयन के लिए व्यस्त दिल्ली-मुंबई और दिल्ली-कोलकाता मार्गों पर 160 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से ट्रेनों के संचालन के लिए 18000 करोड़ रुपये की परियोजना को किया जाएगा। अंतर्राष्ट्रीय रेल सम्मेलन 2019 और 13वीं अंतर्राष्ट्रीय रेलवे उपकरण प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद उन्होंने कहा एक बार परियोजना शुरू होने के बाद, इसे पूरा होने में कम से कम चार साल लगेंगे।

यह कार्यक्रम भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) द्वारा एरोसिटी में रेलवे के साथ मिलकर आयोजित किया गया था। रेलवे का लक्ष्य दिल्ली-मुंबई और दिल्ली-कोलकाता मार्गों पर 160 किमी प्रति घंटे और मुंबई-अहमदाबाद के बीच चल रही बुलेट ट्रेन परियोजना के तहत 320 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से दो श्रेणियों में हाई स्पीड ट्रेन संचालित करना है।

वर्तमान में, विभिन्न मार्गों पर ट्रेनों की औसत अधिकतम गति 99 किमी प्रति घंटा है और हाल ही में शुरू की गई दिल्ली-वाराणसी वंदे भारत एक्सप्रेस दिल्ली-कानपुर खंड पर 104 किमी प्रति घंटे की औसत गति को चलती है। 160 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेनों के संचालन के लिए बुनियादी ढांचे में कुछ बदलाव और उन्नयन करना होगा। जिसके लिए फैनसिंग, ट्रैक और सिग्नलिंग का नवीनीकरण और मानव रहित स्तर-क्रॉसिंग का उन्मूलन शामिल है।

यादव ने कहा कि रेलवे “परिवर्तन मोड” में है और “आधुनिकीकरण की प्रक्रिया में है।” यादव ने कहा कि इसके अलावा अगले तीन वर्षों में 68000 किलोमीटर के ब्रॉड-गेज ट्रैक नेटवर्क का विद्युतीकरण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में, 28000 किमी विद्युतीकृत है और अगले साल के लिए 7000 किमी का लक्ष्य रखा गया है। रेलवे चरणबद्ध तरीके से 34000 किमी अत्यधिक व्यस्त और उपयोग किए जाने वाले रेल नेटवर्क में ‘मल्टी-ट्रैकिंग’ परियोजना को भी लागू करेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 एमपी में कई जगह बारिश, फसलों को हुआ भारी नुकसान
2 Maharashtra Elections: खतरे में BJP प्रदेश अध्यक्ष की भी सीट? गढ़ माने जाने वाले क्षेत्रों में कम मतदान से टेंशन में पार्टी
3 J&K में मानवाधिकार के हालात पर अमेरिका ने जताई ‘चिंता’, कहा- करीब से रख रहे हैं नजर