ताज़ा खबर
 

किसान प्रदर्शन से रेलवे ने रद्द की कई ट्रेनें, कई के रूट डायवर्ट; देखें लिस्ट

किसानों के प्रदर्शन की वजह से दिल्ली की सीमाओं पर रास्ते जाम हैं। पुलिस ने दिल्ली-नोएडा लिंक रोड बंद कर दिया है। वहीं, हरियाणा से सटे दिल्ली के छोटे रास्तों पर भी आवाजाही बंद कर दी गई है।

Indian Railways, Indian Railways, IRCTC, Indian Railways, Railways News, Railways, IRCTC, bhagalpur express, indian railway, LPG, policy, LIC, bank rule, RTGS, jansattaभारतीय रेल (file)

नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का विरोध प्रदर्शन खत्म नहीं हो रहा है। केंद्र सरकार के साथ किसानों की बातचीत का कोई नतीजा नहीं निकल सका है। किसान अब भी दिल्ली बॉर्डर पर जमे हैं और विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों के प्रदर्शन की वजह से सड़क यातायात तो प्रभावित है ही अब रेलों के आवागमन पर भी असर पड़ रहा है।

उत्तर रेलवे (Northern Railways) ने कुछ ट्रेनों को रद्द कर दिया है, जबकि कुछ ट्रेनों के रूट में आंशिक बदलाव किया गया है। इसके अलावा कुछ गाड़ियों को डायवर्ट भी किया गया है।

उत्तर रेलवे ने बुधवार को चलने वाली ट्रेन नंबर 09613 अजमेर-अमृतसर एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन को रद्द कर दिया है। इसके साथ ही ट्रेन नंबर 09612 अजमेर-अमृतसर एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन भी 3 दिसंबर को रद्द रहेगी। इसके अलावा 3 दिसंबर को ट्रेन नंबर 05211 डिब्रूगढ़-अमृतसर एक्सप्रेस ट्रेन भी रद्द रहेगी। वहीं, ट्रेन नंबर 05212 अमृतसर- डिब्रूगढ़ स्पेशल ट्रेन को भी कैंसिल कर दिया गया है।

ट्रेन नंबर 02925 बांद्रा टर्मिनस-अमृतसर स्पेशल ट्रेन को चंडीगढ़ में शॉर्ट टर्मिनेट करने का फैसला किया गया है। ये ट्रेन 2 दिसंबर को चंडीगढ़-अमृतसर के बीच आंशिक रूप से रद्द रहेगी। वहीं, 04998/04997 भठिंडा-वाराणसी-भठिंडा एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेन अगले आदेश तक रद्द रहेगी।

ट्रेन नंबर 02715 नांदेड़-अमृतसर एक्सप्रेस ट्रेन 2 दिसंबर को नई दिल्ली में शॉर्ट टर्मिनेट रहेगी। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक ट्रेन नंबर 04650/74 अमृतसर-जयनगर एक्स्प्रेस को अमृतसर-तरनतारन-ब्यास के रास्ते डायवर्ट किया जाएगा।

किसानों के प्रदर्शन की वजह से दिल्ली की सीमाओं पर रास्ते जाम हैं। पुलिस ने दिल्ली-नोएडा लिंक रोड बंद कर दिया है। वहीं, हरियाणा से सटे दिल्ली के छोटे रास्तों पर भी आवाजाही बंद कर दी गई है। यात्रियों के लिए ट्रैफिक पुलिस ने एडवाइजरी जारी की है। फिलहाल किसानों का आंदोलन शांत होता नहीं दिख रहा है। किसानों का कहना है कि जब तक सरकार तीनों कानूनों को वापस नहीं लेती है, तब तक वे अपने आंदोलन वापस नहीं लेंगे। दूसरी तरफ सरकार उन पर दबाव बना रही है कि वे कानून रद करने की जिद छोड़ें।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 किसान प्रदर्शन पर केजरीवाल ने किया पंजाब सीएम पर हमला, बोले- कृषि बिल पर कमेटी के थे सदस्य, तब चुप क्यों रहे
2 कृषि बिलों पर किसानों की केंद्र को धमकी, बात नहीं मानी तो पांच दिसंबर को देशभर में होगा प्रदर्शन
3 हाईकोर्ट के पूर्व जज सीएस कर्णन चेन्नई में गिरफ्तार, न्यायाधीशों के खिलाफ कमेंट करने पर दर्ज हुई थी रिपोर्ट
यह पढ़ा क्या?
X