ताज़ा खबर
 

रेल यात्रियों के लिए 10 लाख रुपए का बीमा कराएगा IRCTC, 10 रुपए से भी कम में उठा सकेंगे फायदा

IRCTC: इस‍ योजना को ऑनलाइन टिकट बुक करने वाले यात्रियों के लिए पायलट प्रोजेक्‍ट के तौर पर चलाया जाएगा।

Author नई दिल्‍ली | July 21, 2016 11:32 AM
भारतीय रेलवे की ओर से शुरू की गई सुविधाओं से यात्री काफी खुश हैं।

भारतीय रेलवे सितंबर से स्वैच्छिक यात्री बीमा योजना शुरू करने की तैयारी में है। इसके तहत यात्रियों को प्रति टिकट 10 रुपए से भी कम के न्‍यूनतम प्रीमियम में 10 रुपए तक का इंश्‍योरेंस कवर मुहैया कराया जाएगा। ट्रेन हादसे में मौत या पूर्ण विकलांगता की स्थिति में यह बीमा राशि देय होगी। IRCTC ने इसके लिए 17 बीमा कंपनियों को शॉर्ट लिस्‍ट किया है। शुक्रवार तक इनमें से तीन को ट्रेन में यात्रियों को बीमा मुहैया कराने के लिए चुन लिया जाएगा। रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने इस साल रेल बजट में यात्री बीमा स्‍कीम शुरू करने की घोषणा की थी। फिलहाल, इस‍ योजना को ऑनलाइन टिकट बुक करने वाले यात्रियों के लिए पायलट प्रोजेक्‍ट के तौर पर चलाया जाएगा। बाद में से काउंटर टिकट और मासिक सत्र टिकट वाले यात्रियों के लिए भी बढ़ाया जा सकता है। इस योजना के तहत यात्री की मृत्‍यु या स्‍थायी विकलांगता की स्थिति में 10 लाख रुपए, घायल या आंशिक विकलांगता की स्थिति में 7.5 लाख रुपए, अस्‍पताल में भर्ती होने पर 5 लाख रुपए तथा मृत्‍यु के बाद लाश को पहुंचाने के लिए 10,000 रुपए के बीमे का प्रावधान किया जाएगा।

एक वरिष्‍ठ रेलवे अधिकारी ने न्‍यू इंडियन एक्‍सप्रेस से बातचीत में बताया, ”ई-टिकट बुक करते हुए यात्री को बीमा का विकल्‍प चुनना होगा। प्रीमियम यात्रा की अवधि या दूरी पर तय किया सकता है। बीमा कवर के तकनीकी पहलुओं पर कंपनियों के चुने जाने के बाद विचार किया जाएगा।” ऐसी भी योजना है कि बीमा राशि को बढ़ाकर यात्रियों को और सुविधा मुहैया कराई जा सकती है।

READ ALSO: यात्रियों को टिकट खरीदने में ना लगे पांच मिनट से ज्यादा समय, जानें और क्या-क्या कोशिशें कर रहा है रेलवे

इससे पहले, रेलमंत्री ने बजट भाषण में इस बात का ऐलान किया था कि यात्रियों के लिए जल्‍द ही बीमा योजना लॉन्‍च की जाएगी। IRCTC का यह कदम इसी दिशा में उठाया गया है। इससे यात्रियों को सफर के दौरान बीमे की सहूलियत तो मिलेगी ही, हादसों की स्थिति में रेलवे द्वारा दिए जाने वाले मुआवजे के खर्च में भी कमी आने की उम्‍मीद है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App