इस बार कोरोना संकट के बावजूद बंद नहीं होंगी ट्रेनें! रेलवे ने कहा, बढ़ाई जाएगी सेवा, आइसोलेशन कोच भी तैयार

दिल्ली में हो रही ऑक्सीजन की किल्लत पर रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने कहा कि कुल 70 टन ऑक्सीजन के चार टैंकर को लेकर पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस रविवार रात को रायगढ़ के जिंदल इस्पात संयंत्र से रवाना होगी और सोमवार रात को दिल्ली पहुंचेगी।

INDIAN RAILWAY, CORONAVIRUS, CORONA OUTBREAKरेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने कहा है कि कोरोना के फैलते संक्रमण के बावजूद ट्रेनों का परिचालन बंद नहीं किया जाएगा। (फोटो – पीटीआई)

कोरोना के बेकाबू होते संक्रमण के बीच ट्रेन सुविधाओं को बंद करने के कयास लगाए जा रहे थे। हालांकि रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने यह साफ़ कर दिया है कि कोरोना महामारी के बावजूद इसबार ट्रेनों को बंद नहीं किया जाएगा। रेलवे ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण के खिलाफ लड़ाई में अपनी एकजुटता दिखाते हुए ट्रेन के कोचों को आइसोलेशन वार्ड में बदलना शुरू कर दिया है।

रविवार को मीडिया के साथ बातचीत करते हुए रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सुनीत शर्मा ने कहा कि कोरोना के फैलते संक्रमण के बावजूद ट्रेनों का परिचालन बंद नहीं किया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि महामारी के दौरान जहां ट्रेनों की ज्यादा डिमांड हो रही है, वहां हम अपनी सेवाओं को भी बढ़ा रहे हैं। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने इस दौरान यह भी कहा कि देशभर में हो रहे ऑक्सीजन की किल्लत को ख़त्म करने के लिए रेलवे ने अभी तक करीब 150 टन ऑक्सीजन को एक जगह से दूसरी जगह पर भेजा है।

वहीं दिल्ली में हो रही ऑक्सीजन की किल्लत पर रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने कहा कि कुल 70 टन ऑक्सीजन के चार टैंकर को लेकर पहली ऑक्सीजन एक्सप्रेस रविवार रात को रायगढ़ के जिंदल इस्पात संयंत्र से रवाना होगी और सोमवार रात को दिल्ली पहुंचेगी। साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली सरकार को सलाह दी गई है कि वह ऑक्सीजन प्राप्त करने के लिए रोड टैंकर तैयार रखे। रेलवे बोर्ड के चेयरमैन ने यह भी कहा कि रेलवे ने अंगुल, कलिंगनगर, राउरकेला और रायगढ़ से दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में ऑक्सीजन पहुंचाने की योजना बना ली है।

दिल्ली में ऑक्सीजन पहुँचाने के साथ ही रेलवे ने कोरोना संक्रमितों मरीजों के 800 बिस्तरों की व्यवस्था की है। रेलवे की तरफ से दिल्ली के शकूरबस्ती रेलवे स्टेशन पर 50 आइसोलेशन कोच बनाए गए हैं. इन कोचों में करीब 800 बेड की व्यवस्था की गई है। साथ ही आइसोलेशन कोच में तब्दील ट्रेन के डिब्बों में कोरोना संक्रमित मरीजों की सुविधा के लिए जरुरत के सभी सामान रखे गए हैं। इसके अलावा शकूरबस्ती स्टेशन तक एंबुलेंस के आने के लिए डेडिकेटेड मार्ग भी बनाए गए हैं।

  

दिल्ली के अलावा देश के दूसरे शहरों में भी कोरोना के खिलाफ लड़ाई में रेलवे राज्य प्रशासन का सहयोग कर रहा है। रेलवे ने भोपाल स्टेशन पर ट्रेन के कोचों को आइसोलेशन वार्ड में तब्दील कर दिया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार रेलवे की तरफ से ट्रेन के कोचों में 300 बेड का आइसोलेशन वार्ड तैयार किया गया है। इस आइसोलेशन वार्ड में सिर्फ सामान्य लक्षणों वाले मरीज को ही रखा जाएगा या फिर वे ही मरीज यहां रह सकेंगे जिन्हें डॉक्टर्स ने आइसोलेट होने की सलाह दी है।

Next Stories
1 कोरोना: गौतम गंभीर का दावा, पूरी दिल्ली में बंटवाएंगे फैबीफ्लू और ऑक्सीजन सिलेंडर
2 कोरोना की मारक क्षमता को कम कर सकते हैं व्यायाम, खेल- एक्सपर्ट्स
3 अपनी पार्टी की कोई ऐसी बयानबाजी, जिस पर होता हो अफसोस- रवीश का था सवाल, बोले थे शाह- ये गेम का पार्ट है, रूटीन बात है
आज का राशिफल
X