ताज़ा खबर
 

Rail Budget: नहीं बढ़ा यात्री किराया और ना किसी नई ट्रेन का एलान, माल भाड़े में 10% तक की वृद्धि

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने अपने पहले रेल बजट में किसी नई ट्रेन की घोषणा न करके सबको हैरान कर दिया। यह देश के इतिहास में पहला मौका है, जब किसी रेल मंत्री ने रेल बजट के दौरान नई ट्रेनों की घोषणा न की हो। प्रभु ने रेल बजट 2015-16 पेश करते हुए यात्री किरायों […]

Author February 27, 2015 10:23 AM
रेल बजट : न किसी नई ट्रेन की घोषणा, न ही बढ़ा यात्री किराया, पर 10 % तक बढ़ा माल भाड़ा

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने अपने पहले रेल बजट में किसी नई ट्रेन की घोषणा न करके सबको हैरान कर दिया। यह देश के इतिहास में पहला मौका है, जब किसी रेल मंत्री ने रेल बजट के दौरान नई ट्रेनों की घोषणा न की हो। प्रभु ने रेल बजट 2015-16 पेश करते हुए यात्री किरायों में कोई बढ़ोतरी नहीं की और टिकट बुकिंग के लिए भी समयसीमा को 60 दिन से बढ़ाकर 120 दिन कर दिया है।

रेल मंत्री ने अपने बजट भाषण में किसी नई ट्रेन की घोषणा नहीं की और कहा कि रेल नेटवर्क में अधिक ट्रेनों को चलाने की क्षमता की समीक्षा की जा रही है और इसके बाद ही नई गाड़ियों की घोषणा की जा सकेगी। रेल मंत्री के इस बयान पर सदन में कई सदस्यों ने असंतोष का भाव व्यक्त किया।

रेलमंत्री ने अपने रेल बजट में यात्रियों पर किसी प्रकार का अतिरिक्त बोझ नहीं डाला, लेकिन सीमेंट, कोयला, खाद्यान और दालों, यूरिया, मिट्टी के तेल तथा एलपीजी जैसे उत्पादों के माल भाड़े में 10 फीसदी तक की वृद्धि कर अगले वित्त वर्ष में 4,000 करोड़ रुपये अतिरिक्त संसाधन जुटाने का प्रावधन किया है।


उन्होंने यात्रियों की शिकायतों के लिए 24 घंटे काम करने वाली हेल्पलाइन नंबर 138 शुरू करने की घोषणा की। इसके साथ ही रेल शिकायतों का समाधान करने के लिए एक मोबाइल एप्लीकेशन विकसित करने का बात कही, जो 1 मार्च, 2015 से उत्तर रेलवे में पायलट परियोजना के रूप में शुरू किया जाएगा। रेल मंत्री ने सुरक्षा संबंधी शिकायतों के लिए टॉल फ्री नंबर 182 शुरू करने का प्रस्ताव किया है।

अनारक्षित टिकट खरीदने वालों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए रेल बजट में ‘ऑपरेशन 5 मिनट’ शुरू करने की घोषणा की गई है, ताकि इन्हें खरीदने में पांच मिनट से ज्याद समय नहीं लगे। रेल मंत्री ने कहा, प्रारंभिक तथा गंतव्य स्टेशनों पर गाड़ियों के आगमन / प्रस्थान की जानकारी देने के लिए SMS अलर्ट देने का प्रस्ताव किया है, जो गाड़ी के आने से 15 से 30 मिनट पहले भेजा जाएगा। उन्होंने ए1 और ए श्रेणी के स्टेशनों के बाद अब बी श्रेणी के स्टेशनों पर वाई फाई सुविधा प्रदान करने का प्रस्ताव किया।

बुलेट ट्रेन के बारे में उन्होंने कहा, हम अत्यंत जोश के साथ मुंबई और अहमदाबाद के बीच उच्च रफ्तार की रेल गाड़ियों को चलाने जैसी विशेष परियोजनाओं को जारी रखेंगे। इसके लिए व्यावहारिकता अध्ययन रिपोर्ट इस वर्ष के मध्य तक प्राप्त हो जाएगा और इसके आधार पर काम किया जाएगा।

रेलवे में साफ-सफाई पर विशेष जोर देते हुए रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि सरकार ‘स्वच्छ रेल, स्वच्छ भारत’ की दिशा में काम करेगी और इसके लिए रेलवे में एक नया विभाग स्थापित किया जाएगा। प्रभु ने रेल बजट भाषण में कहा, साफ-सफाई एक ऐसा प्रमुख क्षेत्र है, जिस पर यात्री असंतुष्ट रहते हैं। हमारी सर्वोत्तम प्राथमिकता साफ-सफाई में उच्चतर मानकों को सुनिश्चित करना है। उन्होंने कहा, हम सरकार के प्रमुख कार्यक्रम ‘स्वच्छ भारत अभियान’ के तहत स्वच्छ रेल बनाने के कार्यक्रम को जोरदार ढंग से चलाना चाहते हैं, इसलिए अब हम ‘स्वच्छ रेल, स्वच्छ भारत’ के लिए कार्य करेंगे।

रेल मंत्री ने स्टेशनों और गाड़ियों की सफाई के लिए एक नया विभाग बनाने का प्रस्ताव करते हुए कहा कि एकीकृत साफ-सफाई के कार्य को एक विशेषज्ञता वाले कार्य के रूप में शुरू किया जाएगा, जिसमें प्रोफेशनल एजेंसियों की सेवाएं लेना और अपने कर्मचारियों को साफ सफाई की नवीनतम पद्धति का प्रशिक्षण प्रदान करना शामिल होगा।

स्टेशनों और गाड़ियों में शौचालय सुविधाओं की हालत में भारी सुधार की जरूरत बताते हुए प्रभु ने कहा कि पिछले वर्ष के 120 स्टेशनों की तुलना में 650 अतिरिक्त स्टेशनों पर नए शौचालय बनाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि अभी तक 17,388 जैव शौचालयों को लगाया गया है और इस वर्ष 17 हजार और जैव शौचालयों को लगाने का है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App