ताज़ा खबर
 

कांग्रेस में शुरू हुई ‘बुजुर्गों’ की विदाई, युवा टीम के साथ मैदान में उतरेंगे राहुल गांधी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी युवाओं से लैस टीम लेकर मिशन 2019 के लिए मैदान में उतरने की तैयारी में हैं। अध्यक्ष बनने के पांच महीने के भीतर जिस ढंग से संगठन में फेरबदल और नियुक्तियां हो रहीं, वो इस तरफ इशारा करती हैं।

Author नई दिल्ली | May 22, 2018 7:36 PM
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने नदीम जावेद को संगठन में अल्पसंख्यक विभाग की सौंपी कमान।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी युवाओं से लैस टीम लेकर मिशन 2019 के लिए मैदान में उतरने की तैयारी में हैं। अध्यक्ष बनने के पांच महीने के भीतर जिस ढंग से संगठन में फेरबदल और नियुक्तियां हो रहीं, वो इस तरफ इशारा करती हैं।कांग्रेस के कुछ वरिष्ठ नेता संगठन में युवा चेहरों को अहमियत मिलने को पार्टी का ट्रांसफारमेशन करार देते हैं। उनका कहना है कि राजीव गांधी के बाद राहुल गांधी युवा टीम पर भरोसा जता रहे। इसी सिलसिले में राहुल गांधी ने मंगलवार को एक साथ कई नियुक्तियां कीं। इसमें पार्टी के युवा चेहरे और राष्ट्रीय प्रवक्ता नदीम जावेद को अल्पसंख्यक विभाग का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया है। जौनपुर में 2012 के विधानसभा चुनाव में 25 साल बाद कांग्रेस का दोबारा खाता खोलने वाले नदीम जावेद का राहुल गांधी की टीम से जुड़ाव यूथ कांग्रेस की राजनीति के दौर से रहा है।

माना जा रहा है कि इसी भरोसे के चलते राहुल गांधी ने उन्हें देशभर में मुस्लिमों को पार्टी से जोड़ने की अहम जिम्मेदारी सौंपी है। नदीम जावेद को यह जिम्मेदारी खुर्शीद अहमद सैय्यद को हटाकर सौंपी हैं। सैय्यद की उम्र 60 के पार बताई जाती है, जबकि नदीम जावेद 39 साल के हैं। राहुल गांधी ने एक और उम्रदराज नेता को हटाया है, ये हैं पूर्व केंद्रीय मंत्री सुशील कुमार शिंदे। उनके स्थान पर रजनी पाटिल को हिमाचल प्रदेश का प्रभारी बनाया गया है।

HOT DEALS
  • BRANDSDADDY BD MAGIC Plus 16 GB (Black)
    ₹ 16199 MRP ₹ 16999 -5%
    ₹1620 Cashback
  • Lenovo Phab 2 Plus 32GB Gunmetal Grey
    ₹ 17999 MRP ₹ 17999 -0%
    ₹0 Cashback

फेरबदल के क्रम में गुजरात में दो-दो सचिव नियुक्त हुए हैं। जितेंद्र बघेल और विश्वरंजन मोहंती दोनों युवा चेहरे हैं और पहले यूथ कांग्रेस से जुड़े रहे हैं। गुजरात की तर्ज पर बिहार में भी विरेंद्र सिंह राठौड़ और राजेश लिलोथिया को सचिव बनाया गया है। पार्टी सूत्र बताते हैं कि लोकसभा चुनाव के लिए अध्यक्ष राहुल गांधी नई टीम लेकर मैदान में उतरना चाहते हैं। इसी नाते संगठन में विभिन्न पदों पर वर्षों से काबिज उन पुराने नेताओं की छुट्टी की जा रही है, जिन पर जमीन से जुड़ाव न होने के आरोप लगते रहे या फिर वे संगठन में जान फूंकने में नाकाम साबित हुए हैं।

कांग्रेस ने युवा चेहरे नदीम जावेद को अल्पसंख्यक विभाग का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया है।

अल्पसंख्यक विभाग का अध्यक्ष बने नदीम जावेद की बात करें तो वह छात्र राजनीति की उपज रहे हैं। जौनपुर से शुरु हुआ छात्र राजनीति का सफर अलीगढ़ होते हुए दिल्ली तक पहुंचा। 2005 से 2008 तक एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे। फिर यूथ कांग्रेस के महामंत्री बने। इस दरमियान काम करते हुए राहुल गांधी के संपर्क में आए, फिर 2012 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने उन्हें गृहजनपद जौनपुर की सदर सीट से टिकट दिया। 25 वर्ष बाद खाता पार्टी का दोबारा खाता खोल कर राजनीतिक विरोधियों को चौंका दिया। हालांकि 2017 के विधानसभा चुनाव में हार का सामना करना पड़ा। जनसत्ता डॉटकॉम से बातचीत में नदीम जावेद कहते हैं कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस मजबूती से लोकसभा चुनाव लडे़गी। इंदिरा गांधी, राजीव गांधी के बाद अब राहुल गांधी के नेतृत्व में पार्टी का ट्रांसफार्मेशन शुरू हुआ है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App