ताज़ा खबर
 

ट्रंप का मोदी को लेकर दावा, राहुल गांधी बोले- देश के सामने सच्चाई बताएं प्रधानमंत्री

राहुल ने यह भी कहा कि विदेश मंत्रालय के कमजोर इनकार से काम नहीं चलेगा, प्रधानमंत्री को देश को बताना होगा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनके बीच हुई बैठक में क्या हुआ? वहीं, सरकार को घेरते हुए विपक्षी दलों ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मामले पर स्पष्टीकरण दे कर भ्रम की स्थिति दूर करने की मांग की है।

Author नई दिल्ली | Updated: July 23, 2019 1:50 PM
प्रधानमंत्री को देश को बताना होगा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनके बीच हुई बैठक में क्या हुआ : राहुल गांधी

पीएम नरेंद्र मोदी पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के बयान को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। अब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी पीएम पर निशाना साधा है। राहुल गांधी ने सोमवार को कहा, ”ट्रम्प ने कहा कि मोदी ने उनसे कश्मीर मुद्दे पर मध्यस्थता करने को कहा था, अगर यह सच है तो प्रधानमंत्री ने भारत के हितों और 1972 शिमला समझौते के साथ विश्वासघात किया।” राहुल ने यह भी कहा कि विदेश मंत्रालय के कमजोर इनकार से काम नहीं चलेगा, प्रधानमंत्री को देश को बताना होगा कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और उनके बीच हुई बैठक में क्या हुआ?

वहीं, सरकार को घेरते हुए विपक्षी दलों ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से इस मामले पर स्पष्टीकरण दे कर भ्रम की स्थिति दूर करने की मांग की है। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद की अगुवाई में विपक्षी दलों के नेताओं ने मंगलवार को संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से कहा कि ट्रंप ने अपने कथित बयान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जिक्र किया है। ऐसे में मोदी को खुद संसद के दोनों सदनों में बयान दे कर स्थिति स्पष्ट करना चाहिये। इस दौरान तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ ब्रायन, राजद के मनोज कुमार झा, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के माजिद मेनन और आप के संजय सिंह सहित अन्य दलों के नेताओं ने कहा कि ट्रंप ने अपने बयान में साफ तौर पर कहा है कि मोदी ने खुद उनसे कश्मीर मामले में मध्यस्थता करने की पहल की थी, इसलिये मोदी को स्वयं देश के समक्ष स्थिति को स्पष्ट करना चाहिये।

मेनन ने कहा, ‘‘यह बात हमारी समझ से परे है कि प्रधानमंत्री को दोनों सदनों में बयान देने के हमारे अनुरोध को स्वीकार करने में आखिर क्या परेशानी है ?’’ राजद के मनोज झा ने कहा, ‘‘ट्रंप ने अपने बयान में किसी अधिकारी या अन्य नेता का नहीं बल्कि सीधे तौर पर प्रधानमंत्री का जिक्र किया है। ऐसे में कश्मीर जैसे संवेदनशील मुद्दे पर प्रधानमंत्री को स्थिति स्पष्ट करने से बचना नहीं चाहिये। कुछ तो है जिसकी पर्दादारी है।’’

आप के संजय सिंह ने कहा, ‘‘ट्रंप ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की मौजूदगी में कहा है कि मोदी ने उनसे मध्यस्थता का अनुरोध किया है। इतना ही नहीं, ट्रंप ने यह भी कहा कि उन्हें मध्यस्थता करने में खुशी होगी। यह भारत की संप्रभुता के खिलाफ कही गयी बात है। मोदी जी के संदर्भ में कही गयी बात है इसलिये संसद का सत्र चल रहा है, ऐसे में प्रधानमंत्री को (संसद के) दोनों सदनों में स्पष्टीकरण देना चाहिये।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 आरएसएस से जुड़े संगठन की मांग- एचआरडी और कल्चर मिनिस्टरी का हो विलय, पाठ्यक्रम लागू करने में होगी आसानी
2 …आपके लोग भूखे मर जाएंगे- नाहिद हसन पर बीजेपी विधायक राजा सिंह का पलटवार
3 आम्रपाली ग्रुप पर चला सुप्रीम कोर्ट का डंडा, 45 हजार फ्लैट खरीदारों को दी बड़ी राहत
ये पढ़ा क्या?
X