ताज़ा खबर
 

बीजेपी के मंत्री ने कहा- ”कांग्रेस संदिग्ध सोशल मीडिया पर चुप्पी साधे रखती है तो मुझे खेद है कि उनके पास देश चलाने की ताकत नहीं”

कांग्रेस से राजनीतिक डाटा विश्लेषक कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका (सीए) के संबंधों के आरोपों को दोहराते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने गुरुवार को कहा कि कंपनी राहुल गांधी के सोशल मीडिया प्रचार अभियान में शामिल थी और इस संबंध में बैठक भी हुई थी।

Author नई दिल्ली | March 22, 2018 23:42 pm
केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “इस संबंध में रिपोर्ट सबसे पहले 9 अक्टूबर, 2017 को प्रकाशित हुई और मेरे द्वारा मुद्दे को बुधवार को उठाए जाने तक पार्टी चुप रही। मुद्दे के सामने आने के बाद उन्होंने अपने को मुश्किल में पाया और आरोपों से इनकार किया।”

कांग्रेस से राजनीतिक डाटा विश्लेषक कंपनी कैंब्रिज एनालिटिका (सीए) के संबंधों के आरोपों को दोहराते हुए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने गुरुवार को कहा कि कंपनी राहुल गांधी के सोशल मीडिया प्रचार अभियान में शामिल थी और इस संबंध में बैठक भी हुई थी। भाजपा ने कांग्रेस अध्यक्ष के पांच महीने से ज्यादा समय तक एक मीडिया रिपोर्ट को लेकर चुप्पी पर भी सवाल उठाया। इस मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि उनकी पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का 2019 में सामना करने के लिए सीए को ‘ब्रह्मास्त्र’ के रूप में शामिल किया।
केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “इस संबंध में रिपोर्ट सबसे पहले 9 अक्टूबर, 2017 को प्रकाशित हुई और मेरे द्वारा मुद्दे को बुधवार को उठाए जाने तक पार्टी चुप रही। मुद्दे के सामने आने के बाद उन्होंने अपने को मुश्किल में पाया और आरोपों से इनकार किया।”

मंत्री ने कहा कि वह पूरी जिम्मेदारी से कह रहे हैं कि सीए राहुल गांधी के लिए सोशल मीडिया प्रचार अभियान का प्रबंध कर रही थी और इस संबंध में बैठकें भी हुईं थीं।
उन्होंने कहा, “कांग्रेस इस तथ्य से नहीं भाग सकती। यदि कांग्रेस संदिग्ध सोशल मीडिया कंपनी की भागीदारी की ऐसी महत्वपूर्ण खबर पर विशेष रूप से चुप्पी साधे रखती है और इसका मुकाबला नहीं करती तो मुझे खेद है। उनके पास देश चलाने का कोई अधिकार नहीं है।”

कांग्रेस ने बुधवार को सीए से संबंधों से इनकार किया था। सीए पर चुनावी प्रक्रिया को कथित तौर पर प्रभावित करने के लिए डाटा चुराने का आरोप है। प्रसाद ने यह भी दावा किया कि कांग्रेस ने गुजरात विधानसभा चुनावों में सीए की सेवाएं ली थीं। उन्होंने कहा, “उन्होंने सीए का गुजरात में इस्तेमाल किया और यह कांग्रेस के चुनाव लड़ने के तरीके से साफ है।”
उन्होंने राहुल गांधी के उस आरोप को खारिज किया कि ‘सीए मुद्दे से मोदी सरकार जनता का ध्यान इराक में मारे गए 39 भारतीयों के बारे में बोले गए झूठ से भटकाना चाहती है।’

उन्होंने कहा, “हम उम्मीद करते है कि राहुल गांधी मौत पर राजनीति में शामिल नहीं होंगे। उन्हें गंभीर प्रकृति के आरोपों पर जवाब देना चाहिए।” राहुल गांधी की यह टिप्पणी सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्री के कांग्रेस पर लगाए गए आरोपों के एक दिन बाद आई। सूचना व प्रौद्योगिकी मंत्री ने कांग्रेस पर 2019 के चुनाव अभियान चलाने के लिए कैंब्रिज एनालिटिका को शामिल कर राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता करने का आरोप लगाया था।

उन्होंने आरोप लागाया कि कंपनी डाटा में गड़बड़ी करने में शामिल पाई गई है और चेतावनी दी कि सोशल मीडिया के दुरुपयोग से भारतीय चुनाव प्रक्रिया को प्रभावित करने की कोशिश बर्दाश्त नहीं की जाएगी। प्रसाद ने कहा कि विश्लेषक कंपनी पर रिश्वत व सेक्स वर्कर्स के जरिए राजनेताओं फंसाने व फेसबुक से डाटा चुराने का अरोप है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App