ताज़ा खबर
 

दलितों के उत्पीड़न पर बीजेपी को घेरने की तैयारी, राहुल गांधी का राजघाट पर उपवास

कांग्रेस ने देश भर में दलितों का उत्पीड़न बढ़ने की बात कहते हुए आंदोलन शुरू करने की तैयारी की है। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार(नौ अप्रैल) को राजघाट पर उपवास कर इसकी शुरुआत करने जा रहे।

Author नई दिल्ली | April 9, 2018 11:05 AM
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी (file photo indian express)

2019 का लोकसभा चुनाव नजदीक होते ही सियासी सरगर्मी बढ़ने लगी है। दलितों के मुद्दे पर राजनीतिक दल मुखर हो उठे हैं। कांग्रेस ने देश भर में दलितों का उत्पीड़न बढ़ने की बात कहते हुए आंदोलन शुरू करने की तैयारी की है। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी सोमवार(नौ अप्रैल) को राजघाट पर उपवास कर इसकी शुरुआत करने जा रहे। माना जा रहा है कि नजदीक आए कर्नाटक चुनाव और आगामी लोकसभा चुनाव के मद्देजनर कांग्रेस दलितों से जुड़े मुद्दे उठाकर उनके दिल में पैठ बनाने की कोशिश कर रही है।
विपक्ष को भाजपा को इसलिए भी दलितों के मुद्दे पर घेरने का मौका मिला है,क्योंकि सत्ताधारी बीजेपी के चार सांसद पत्र लिखकर खुलेआम दलित उत्पीड़न को लेकर संगठन और सरकार से नाराजगी जता चुके हैं। कार्यक्रम के मुताबिक राहुल गांधी विरोध प्रदर्शन का खुद नेतृत्व करेंगे। वे करीब एक दिन का उपवास करेंगे। उनके साथ दिल्ली प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन सहित तमाम वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ता रहेंगे। कांग्रेस ने दो अप्रैल को दलितों के भारत बंद को भी समर्थन दिया था।

बताया जा रहा है कि कांग्रेस इस मुद्दे को पूरी तरह से भुनाने की कोशिश में है। ताकि चुनावों में दलित वोटों की फसल काटी जा सके। कांग्रेस का आरोप है कि केंद्र सरकार संसद नहीं चलने दे रही, जिससे बैंक घोटाले, दलित उत्पीड़न आदि घटनाओं पर बहस नहीं हो पा रही।उधर बीजेपी का आरोप है कि कांग्रेस सहित समूचा विपक्ष संसद नहीं चलने दे रहा। बीजेपी ने भी 12 अप्रैल को पार्टी सांसदों को संसद न चलने के विरोध में उपवास करने को कहा है। माना जा रहा है कि बीजेपी की इस घोषणा का जवाब देने के लिए राहुल गांधी ने पहले ही राजघाट पर दलित उत्पीड़न के मुद्दे पर उपवास रखने का फैसला किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App