ताज़ा खबर
 

कार्यकर्ताओं को फोन लगा रहे राहुल गांधी, पता चलीं कांग्रेस की बड़ी समस्‍याएं

'पार्टी में अनुशासन अब दिखाई ही नहीं पड़ता। बड़े और सीनियर नेताओं का अंहकार और गुटबाजी पार्टी की सबसे बड़ी समस्या है। कांग्रेस के बड़े नेताओं को कोई परवाह नहीं। बड़े नेताओं की एक मजबूत लॉबी है।'

राहुल गांधी ने एक घंटे तक कार्यकर्ताओं से बात करने के बाद पार्टी में उनकी भूमिका बढ़ाने की बात कही है। (फोटो सोर्स : Indian Express)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी आगामी चुनाव के लिए न सिर्फ खुद को बल्कि पार्टी को भी जमीनी स्तर मजबूती देने में लग गए हैं। राहुल इसके लिए अलग अलग राज्य में पार्टी के जिलाध्यक्षों और सदस्यों से सीधे बात कर रहे हैं और समस्याएं सुन रहे हैं। ग्राउंड लेवल पर काम कर रहे कार्यकर्ताओं से बात करने के बाद राहुल को कांग्रेस की बड़ी समस्याएं पता चलीं।

राहुल पार्टी के जिलाध्यक्षों और सदस्यों से फोन के जरिए सारी जानकारी ले रहे हैं। राहुल से कार्यकर्ताओं ने बताया, पार्टी में अनुशासन अब दिखाई ही नहीं पड़ता। बड़े और सीनियर नेताओं का अंहकार और गुटबाजी पार्टी की सबसे बड़ी समस्या है।

पश्चिम बंगाल के जलपाईगुड़ी जिले के कार्यकर्ता ने राहुल को बताया, कांग्रेस नेता घमंड से भरे हुए हैं। उनकी जनता से जुड़ने में कोई दिलचस्पी नहीं है। साथ ही कहा, कांग्रेस पश्चिम बंगाल के चुनाव में बिना किसी गठबंधन के लड़े। इसी तरह तेलंगाना के वारंगल से पार्टी के एक पदाधिकारी ने कहा, कांग्रेस के बड़े नेताओं को हमारी कोई परवाह नहीं। बड़े नेताओं की एक मजबूत लॉबी है। जो हैदराबाद और दिल्ली में है।

पार्टी के जिलाध्यक्षों और सदस्यों की बात सुनने के बाद राहुल गांधी ने कहा, कांग्रेस यह तय करेगी कि जब फैसले लिए जाएं तब जिले की इकाई की इनमें अहम भूमिका हो। राहुल ने आगे कहा कि, कांग्रेस की रीढ़ की हड्डी जिला अध्यक्ष हैं। मैं चाहता हूं कि हर जिले पर पार्टी को मजबूत करने के लिए हमें जिला और ब्लॉक अध्यक्षों के साथ मिलकर काम करना चाहिए। जिलाध्यक्ष रूटीन बेसिस पर मीटिंग करें। हम जनता की भलाई के मुद्दे उठाएंगे और उनके समाधान निकालने की कोशिश करेंगे। मेरा लक्ष्य होगा कि पार्टी के निर्णय लेने में जिलों की भी भूमिका हो।

राहुल गांधी की जिलाध्यक्षों और सदस्यों से यह बातचीत करीब एक घंटे तक चली। इसका आयोजन एआईसीसी के जनरल सेक्रेटरी अशोक गहलोत की तरफ से आयोजित की गई थी। गहलोत ने यह भरोसा दिलाया कि सभी शिकायतों और सुझावों पर गंभीरता से अमल किया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App