Rahul Gandhi takes a jibe at BJP afeter news report suggests 'conflict of interest' related to Ajit Doval's son - अमित शाह के बाद अजित डोभाल के बेटे पर आरोप, राहुल गांधी बोले- बीजेपी की नई पेशकश - Jansatta
ताज़ा खबर
 

अमित शाह के बाद अजित डोभाल के बेटे पर आरोप, राहुल गांधी बोले- बीजेपी की नई पेशकश

कांग्रेस ने मांग की कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उन चार केंद्रीय मंत्रियों को हटा देना चाहिए जो संगठन में निदेशक हैं।

Author November 5, 2017 5:09 PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल। (फाइल फोटो)

एक खबर को लेकर कांग्रेस ने भाजपा पर प्रहार किया जिसमें आरोप लगाया गया है कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के बेटे शौर्य के एक संगठन चलाने में ‘‘हितों के टकराव की संभावना’’ है। संगठन के बोर्ड में कुछ केंद्रीय मंत्रियों के भी होने का आरोप है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने हिंदी में ट्वीट किया, ‘‘शाह-जादा की अपार सफलता के बाद भाजपा की नयी पेशकश — अजित शौर्य गाथा।’’ खबर में आरोप लगाया गया है कि डोभाल के बेटे द्वारा चलाए जा रहे थिंक टैंक इंडिया फाउंडेशन को चलाने में ‘‘हितों के टकराव की संभावना’’है क्योंकि शौर्य डोभाल वित्तीय सेवा कंपनी में साझीदार हैं और थिंक टैंक में कुछ वरिष्ठ मंत्री निदेशक पद पर हैं। यह संगठन कुछ विदेशी और भारतीय कारपोरेट के वित्तीय मदद से चलता है और इन कारपोरेट में कुछ का सरकार से भी लेन-देन है। मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है, ‘‘इंडिया फाउंडेशन का अपारदर्शी वित्त व्यवस्था, इसमें वरिष्ठ मंत्रियों का निदेशक पद और इसके कार्यकारी निदेशक शौर्य डोभाल द्वारा जेमिनी फाइनेंशियल र्सिवसेज का संचालन भी हितों के टकराव और लॉबिइंग की संभावना को दर्शाता है। जेमिनी फाइनेंशियल र्सिवसेज एक ऐसी कंपनी है जो ‘ओईसीडी और उभरते एशियाई अर्थव्यवस्था के बीच लेन-देन और पूंजी प्रवाह का काम करती है।’’

कांग्रेस ने मांग की कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को उन चार केंद्रीय मंत्रियों को हटा देना चाहिए जो संगठन में निदेशक हैं और पार्टी ने मामले की सीबीआई जांच की मांग की। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने यहां कहा, ‘‘प्रधानमंत्री मोदी को उन चार मंत्रियों को हटा देना चाहिए जो इंडिया फाउंडेशन के बोर्ड में शामिल हैं। हम मोदी से पूछना चाहते हैं कि वह कब उन्हें हटाएंगे।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App