ताज़ा खबर
 

Citizenship Amendment Bill पर भड़के राहुल गांधी, कहा- मोदी और शाह सरकार की पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाए की कोशिश

Citizenship Amendment Bill 2019, PM Narendra Modi, Amit Shah, Rahul Gandhi: राहुल गांधी ने ट्वीट कर आरोप लगाया, ''नागरिकता विधेयक मोदी-शाह सरकार की ओर से पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाये का प्रयास है। यह पूर्वोत्तर के लोगों, उनकी जीवन पद्धति और भारत के विचार पर हमला है।"

Author दिल्ली | Updated: December 11, 2019 11:38 AM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

Citizenship Amendment Bill 2019, PM Narendra Modi, Amit Shah, Rahul Gandhi: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार (11 दिसंबर) को आरोप लगाया कि ”मोदी-शाह सरकार” नागरिकता संशोधन विधेयक (CAB) के माध्यम से पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाये का प्रयास कर रही है। उन्होंने विधेयक के खिलाफ पूर्वोत्तर में प्रदर्शन होने से जुड़ी खबर का हवाला देते हुए यह भी कहा कि वह पूर्वोत्तर की जनता के साथ मजबूती से खड़े हैं।

क्या बोले राहुल गांधी: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने ट्वीट कर आरोप लगाया, ”नागरिकता विधेयक मोदी-शाह सरकार की ओर से पूर्वोत्तर के नस्लीय सफाये का प्रयास है। यह पूर्वोत्तर के लोगों, उनकी जीवन पद्धति और भारत के विचार पर हमला है।” उन्होंने कहा, ”मैं पूर्वोत्तर के लोगों के साथ खड़ा हूं और उनकी सेवा के लिए हाजिर हूं।”

Hindi News Today, 11 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

राज्यसभा में पेश: इस विधेयक को बुधवार को चर्चा और पारित कराने के मकसद से राज्यसभा में लाया जाएगा। कांग्रेस इस विधेयक को ‘असंवैधानिक’ करार देते हुए इसका विरोध कर रही है। गौरतलब है कि लोकसभा ने सोमवार रात नागरिकता संशोधन विधेयक को मंजूरी दे दी जिसमें अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिन्दू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता के लिए आवेदन करने का पात्र बनाने का प्रावधान है।

असम के मुख्यमंत्री का बयान: असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने मंगलवार को प्रदर्शनकारियों से कहा कि वे नागरिकता (संशोधन) विधेयक को लेकर अफवाह न फैलायें। विधेयक के खिलाफ करीब 20 संगठनों की ओर से आहूत दिनभर की हड़ताल के चलते राज्य में जनजीवन प्रभावित हुआ। सोनोवाल ने असम में एक कार्यक्रम में कहा कि किसी को भी ‘‘विभाजनकारी ताकतों’’ को राज्य को अस्थिर नहीं करने देना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ”गुजरात में फेल हो गया, बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का नारा”, बढ़ती भ्रूण हत्याओं पर कांग्रेस सरकार ने बीजेपी पर साधा निशाना
2 Citizenship Amendment Bill: खतरनाक मोड़ ले रहा भारत, हम नहीं हैं पाकिस्तान- नोबेल विजेता ने चेताया
3 4 साल की उम्र से बलात्कार, तीन बार करवाना पड़ा अबॉर्शन! 40 साल की महिला ने रिश्तेदार को कोर्ट में घसीटा
ये पढ़ा क्या?
X