scorecardresearch

दोस्तों को दौलतवीर और युवकों को… मोदी सरकार पर बरसे राहुल गांधी, उधर विजयन ने गुजरात की अरेस्ट पर कांग्रेस से पूछा ये तीखा सवाल

पिनराई विजयन ने कहा कि श्रीकुमार और तीस्ता सीतलवाड़ की गिरफ्तारियों को देश में भाजपा विरोधी ताकतों को डराने के प्रयास के रूप में देखना चाहिए।

rahul gandhi | agnipath scheme | china forcers
कांग्रेस नेता राहुल गांधी। (फोटो सोर्स: ANI)।

अग्निपथ स्कीम (Agnipath Scheme) को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने सोमवार (27 जून 2022) को ट्वीट कर कहा कि देश के प्रधानमंत्री अपने मित्रों को तो देश के एयरपोर्ट देकर दौलतवीर बना रहे हैं लेकिन युवाओं को ठेके पर रखकर अग्निवीर बनाना चाहते हैं।

राहुल गांधी ने ट्विटर पर लिखा, “प्रधानमंत्री अपने मित्रों’ को 50 साल के लिए देश के एयरपोर्ट देकर ‘दौलतवीर’ और युवाओं को सिर्फ़ 4 साल के ठेके पर ‘अग्निवीर’ बना रहे हैं। आज देश भर में कांग्रेस पार्टी ‘अग्निपथ’ के ख़िलाफ़ सत्याग्रह कर रही है और जब तक युवाओं को इंसाफ़ नहीं मिलता, ये सत्याग्रह नहीं रुकेगा।”

कांग्रेस का सत्याग्रह: अग्निपथ योजना को लेकर कांग्रेस ने सोमवार को देश के सभी विधानसभा क्षेत्रों में सत्याग्रह किया और योजना को लागू करने के ‘तुगलकी’ फैसले को वापस लेने की मांग की। पश्चिम बंगाल में पवन खेड़ा, लखनऊ में अजय माकन, मुंबई में सुप्रिया श्रीनेत और चेन्नई में गौरव गोगोई सहित कांग्रेस के 20 वरिष्ठ नेताओं और प्रवक्ताओं ने कई शहरों में संवाददाता सम्मेलनों को संबोधित किया। इस दौरान राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरे और युवाओं के बीच असंतोष का हवाला देते हुए इस योजना को वापस लेने की मांग की गयी।

पिनराई विजयन ने कांग्रेस से पूछा सवाल: वहीं, दूसरी ओर केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने 2002 के गुजरात दंगों को लेकर सोमवार को कांग्रेस पर हमला किया। सीएम विजयन ने सवाल उठाया कि क्या कांग्रेस गुजरात दंगों को भूलना चाहती है? क्या कांग्रेस ने कभी जकिया जाफरी की कानूनी लड़ाई का समर्थन किया? उन्होंने आरोप लगाया कि न तो कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और न ही उस पार्टी के किसी वरिष्ठ नेता ने जकिया जाफरी की कानूनी लड़ाई का समर्थन की घोषणा करने के लिए उनसे मुलाकात की। जकिया के पति और पूर्व कांग्रेस सांसद ईशान जाफरी गुजरात दंगों के दौरान मारे गए थे।

बीजेपी के डर से कांग्रेस खामोश: सीएम ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद गुजरात पुलिस द्वारा सेवानिवृत्त डीजीपी आरबी श्रीकुमार और सामाजिक कार्यकर्ता तीस्ता सीतलवाड़ की गिरफ्तारी पर कांग्रेस की चुप्पी पर सवाल उठाया। उन्होंने कहा, “कांग्रेस कम से कम नाममात्र का विरोध कर सकती थी। बड़े पैमाने पर विरोध की जरूरत नहीं है। वे ऐसा क्यों नहीं सोच सकते थे?”

पिनराई विजयन ने कहा कि श्रीकुमार और सीतलवाड़ को उस दिन गिरफ्तार किया गया था जिस दिन 1975 में आपातकाल घोषित किया गया था। संघ परिवार की धमकी के आगे कांग्रेस चुप्पी साधे हुए है। बीजेपी के डर से कांग्रेस घुटनों के बल रेंग रही है। कांग्रेस के साथ खड़ी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग समेत सभी पार्टियों को इस पर गंभीरता से विचार करना चाहिए।

पढें राष्ट्रीय (National News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X