ताज़ा खबर
 

फिर से कांग्रेस की कमान संभालेंगे राहुल गांधी? पार्टी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कही यह बात

Rahul Gandhi, Congress President: कांग्रेस संगठन के प्रभारी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने केरल के वायनाड में मीडिया से बात करते हुए कहा कि जुलाई में राहुल गांधी का पार्टी अध्यक्ष का पद छोड़ने का निर्णय भावनात्मक था।

पूर्व कांग्रेस चीफ राहुल गांधी। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः ताशी तोबग्याल)

Rahul Gandhi, Congress President: लोकसभा चुनाव के बाद जुलाई में कांग्रेस अध्यक्ष पद का छोड़ने वाले राहुल गांधी एक बार फिर से पार्टी की कमान अपने हाथों में ले सकते हैं। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता केसी वेणुगोपाल ने ऐसे संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि देश अब ज्यादा चाहने लगा है कि वह पार्टी नेतृत्व की भूमिका में हों और पार्टी कार्यकर्ताओं की ओर से भी उनकी वापसी की मांग उठने लगी है। बता दें कि वेणुगोपाल ने यह बात राहुल के वायनाड दौरे के दौरान कही।

क्या बोले कांग्रे नेता: कांग्रेस संगठन के प्रभारी महासचिव केसी वेणुगोपाल ने केरल के वायनाड में शुक्रवार को मीडिया से बात करते हुए कहा कि जुलाई में राहुल गांधी का पार्टी अध्यक्ष का पद छोड़ने का निर्णय भावनात्मक था और वह जल्द ही इस पद पर वापस लौटेंगे। वेणुगोपाल राहुल के साथ उनके निर्वाचन क्षेत्र वायनाड की तीन दिवसीय यात्रा पर थे।

Hindi News Today, 07 December 2019 LIVE Updates: बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

राहुल फिर संभालेंगे कमान: वेणुगोपाल ने कहा कि देश एक महत्वपूर्ण दौर से गुजर रहा है। पार्टी को अब उनके (राहुल) नेतृत्व की जरूरत है। उन्होंने कहा कि देश के विभिन्न हिस्सों से पार्टी कार्यकर्ता का जोर-शोर से आवाज उठा रहे हैं, हमें पूरी उम्मीद है कि वह जल्द ही उनकी बात सुनेंगे। बता दें कि कुछ महीने बाद में कांग्रेस का अधिवेशन होने वाला है जिसमें पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की नियुक्ति को मंजूरी दी जाएगी।

लोकसभा चुनाव के बाद से दिया था इस्तीफा: 2017 में अध्यक्ष के रूप में पदभार संभालने वाले राहुल गांधी ने इस साल जुलाई में आम चुनावों में पार्टी के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद अध्यक्ष पद छोड़ दिया था। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस केवल 52 सीटें जीत सकी थी और उत्तर प्रदेश में कांग्रेस की परंपरागत सीट अमेठी में भी राहुल को हार मिली। हालांकि वायनाड में उन्हें जीत मिली थी। बाद में सोनिया गांधी ने अगस्त में अंतरिम अध्यक्ष के रूप में कांग्रेस की बागडोर संभाली। माना जा रहा है कि दिल्ली चुनाव के बाद पार्टी कोई बड़ा फैसला कर सकती है।

Next Stories
1 सिंचाई घोटाला: नागपुर के साथ अमरावती ACB ने भी दे दी अजित पवार को क्लीन चिट, एक ही दिन दिया हलफनामा
2 BJP पर बरसे चिदंबरम, कहा- डबल इंजन की सरकार ने झारखंड का कर्जा दोगुना कर 85 हजार करोड़ रुपए कर दिया
3 JHARKHAND ELECTIONS: मर्डर आरोपी, कथित साजिशकर्ता और मृतक के बेटे के बीच दिलचस्प जंग, दो जेल से ही किया प्रचार!
ये पढ़ा क्या?
X