ताज़ा खबर
 

Rahul Gandhi Jammu-Kashmir Visit: श्रीनगर से लौटाए गए राहुल गांधी, राज्यपाल बोले- राहुल राजनीति करने लगे

Jammu and Kashmir: राहुल गांधी ने मीडिया से कहा कि कुछ दिन पहले राज्यपाल द्वारा मुझे कश्मीर आने के लिए आमंत्रित किया गया था। हम जनाना चाहते हैं कि कश्मीर में हो क्या रहा है।

Author नई दिल्ली | Updated: Aug 24, 2019 21:51 pm
Jammu and Kashmir UPDATES: श्रीनगर से लौटाए गए राहुल गांधी समेत विपक्ष के अन्य नेता।

Rahul Gandhi Kashmir Visit: कांग्रेस नेता राहुल गांधी की अगुआई में कई विपक्षी दलों के नेता शनिवार को जम्मू-कश्मीर की राजधानी श्रीनगर पहुंचे।श्रीनगर एयरपोर्ट पर हंगामा होने के बाद राहुल गांधी समेत अन्य 11 विपक्षी नेताओं को वापस  दिल्ली भेज दिया गया है। श्रीनगर से वापसी के बाद  राहुल गांधी ने मीडिया से कहा कि कुछ दिन पहले  राज्यपाल द्वारा मुझे कश्मीर आने के लिए आमंत्रित किया गया था। हम जनाना चाहते हैं कि कश्मीर में हो क्या रहा है लेकिन हमें एयरपोर्ट से आगे नहीं बढ़ने दिया गया। हमारे साथ जो मीडियाकर्मी हैं उनके साथ बदसलूकी की गई। यह स्पष्ट है कि कश्मीर में सबकुछ सामान्य नहीं है।

राहुल गांधी ने राज्यपाल को उनका वादा याद दिलाते हुए कहा कि उनके बुलाने पर वह कश्मीर गए लेकिन उन्हें श्रीनगर से आगे नहीं बढ़ने दिया गया। राहुल गांधी के इस बयान पर जम्मू कश्मीर के राज्यपाल सत्यापाल सिंह ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि मैंने राहुल गांधी को भलमनसाहत में बुलाया था लेकिन वह राजनीति करने लगे। उन्होंने जो किया वह राजनीति से प्रेरित था। पार्टियों को ऐसे समय में राष्ट्रहित के बारे में सोचना चाहिए।

उधर, राहुल गांधी एवं विपक्ष के अन्य नेताओं को जम्मू-कश्मीर जाने की अनुमति नहीं दिए जाने का विरोध करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार को तो विपक्षी दलों का एक प्रतिनिधि मंडल खुद वहां भेजना चाहिए था, जिससे जनता में उसके फैसलों के प्रति विश्वास बढ़ता।

गहलोत ने कहा, ‘‘इस सरकार को खुद चाहिए था कि वह विपक्षी दलों के नेताओं का प्रतिनिधिमंडल बनाकर भेजती और यह कहती कि जो दावे मीडिया के माध्यम से हम कर रहे हैं, उन दावों में सच्चाई है और आप जाकर देखिए।’’ उन्होंने कहा कि देश पर किसी संकट की स्थिति में या ऐसे हालात में सत्ता में बैठे लोग ऐसी ही पहल करते हैं जैसा कि बांग्लादेश की आजादी की लड़ाई के समय तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने विपक्ष के अनेक नेताओं को दुनिया के अलग अलग मुल्कों में भेजा था।

Live Blog

Highlights

    19:01 (IST)24 Aug 2019
    राहुल गांधी बोले कश्मीर में सबकुछ सामान्य नहीं

    राहुल गांधी ने मीडिया से कहा कि कुछ दिन पहले राज्यपाल द्वारा मुझे कश्मीर आने के लिए आमंत्रित किया गया था। हम जनाना चाहते हैं कि कश्मीर में हो क्या रहा है लेकिन हमें एयरपोर्ट से आगे नहीं बढ़ने दिया गया। हमारे साथ जो मीडियाकर्मी हैं उनके साथ बदसलूकी की गई। यह स्पष्ट है कि कश्मीर में सबकुछ सामान्य नहीं है।

    18:18 (IST)24 Aug 2019
    प्रशासन की तरफ से ट्वीट

    प्रशासन  की तरफ से इससे पहले ट्वीट किया गया था। ट्वीट में कहा गया था कि   “ नेताओं के दौरे से असुविधा होगी। हम लोगों को आतंकवादियों से बचाने में लगे हैं।” प्रशासन ने कहा कि नेता उन प्रतिबंधों का भी उल्लंघन कर रहे होंगे, जो अभी भी कई क्षेत्रों में हैं। वरिष्ठ नेताओं को शांति-व्यवस्था बनाए रखने में मदद करनी चाहिए। 

    17:14 (IST)24 Aug 2019
    विपक्ष का प्रतिनिधिमंडल

    विपक्ष के प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस से राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद, आनंद शर्मा, माकपा से सीताराम येचुरी, भाकपा के डी. राजा, डीएमके के टी सिवा, राजद के मनोज झा और तृणमूल से दिनेश त्रिवेदी शामिल थे।

    15:15 (IST)24 Aug 2019
    वापस लौटाए गए राहुल समेत विपक्षी नेेता

    श्रीनगर एयरपोर्ट पर हंगामे के बाद राहुल गांधी समेत अन्य विपक्षी नेताओं को वापस दिल्ली भेज दिया गया है। वह प्रशासन की मनाही के बावजूद विपक्षी दलों के नेता के साथ कश्मीर पहुंचे थे । जहां श्रीनगर एयरपोर्ट पर उन्हें रोक लिया गया था।

    14:31 (IST)24 Aug 2019
    मीडिया के साथ बदसलूकी

    खबरों के मुताबिक श्रीनगर एयरपोर्ट पर नेताओं के पहुंचते ही मीडियाकर्मियों और नेताओं को अलग कर दिया गया। पुलिस मीडियाकर्मियों को इन नेताओं से सवाल नहीं पूछने दे रही है। बताया जा रहा है कि पुलिसकर्मियों द्वारा वहां मौजूद मीडियाकर्मियों से बदतसलूकी की गई है।

    14:15 (IST)24 Aug 2019
    एयरपोर्ट पर हंगामा

    8  दलों के 11 नेताओं के साथ कश्मीर जा रहे राहुल गांधी  समेत अन्य नेताओं को श्रीनगर एयरपोर्ट पर रोक लिया गया है। खबर हैं कि एयरपोर्ट पर उनके रोके जाने से हंगामा शुरू हो गया है। उन्हें एयरपोर्ट से बाहर नहीं निकले दिया जा रहा है। राहुल समेत अन्य नेता विस्तारा की फ्लाइट से दिल्ली एयरपोर्ट से रवाना हुए थे। 

    13:58 (IST)24 Aug 2019
    और क्या कहा

    जम्मू कश्मीर के हालात का जिक्र करते हुए गहलोत ने कहा, ‘‘लगभग 20 दिन हो गए हैं और लोग घरों में बंद हैं। टेलीफोन, मोबाइल और इंटरनेट सेवाएं बंद हैं। किसी एक भी नागरिक को इस प्रकार से बंद करने का अधिकार सरकार को नहीं होता। यह हमारे संविधान के मूलभूत अधिकारों में है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ ऐसा माहौल बनाया गया है कि जैसे वे ही देशभक्त हैं। हम तो देशभक्त हैं ही नहीं। आम जनता को भी गुमराह करने में ये लोग कामयाब हो गए हैं। जनता धीरे-धीरे समझेगी कि सच्चाई क्या है। तब उनकी असलियत सामने आएगी। विजय हमेशा सच्चाई की होती है।’’

    13:57 (IST)24 Aug 2019
    गहलोत ने साधा निशाना

    उधर, राहुल गांधी एवं विपक्ष के अन्य नेताओं को जम्मू-कश्मीर जाने की अनुमति नहीं दिए जाने का विरोध करते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शनिवार को कहा कि केंद्र सरकार को तो विपक्षी दलों का एक प्रतिनिधि मंडल खुद वहां भेजना चाहिए था, जिससे जनता में उसके फैसलों के प्रति विश्वास बढ़ता। गहलोत ने कहा, ‘‘इस सरकार को खुद चाहिए था कि वह विपक्षी दलों के नेताओं का प्रतिनिधिमंडल बनाकर भेजती और यह कहती कि जो दावे मीडिया के माध्यम से हम कर रहे हैं, उन दावों में सच्चाई है और आप जाकर देखिए।’’ उन्होंने कहा कि देश पर किसी संकट की स्थिति में या ऐसे हालात में सत्ता में बैठे लोग ऐसी ही पहल करते हैं जैसा कि बांग्लादेश की आजादी की लड़ाई के समय तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने विपक्ष के अनेक नेताओं को दुनिया के अलग अलग मुल्कों में भेजा था।

    12:16 (IST)24 Aug 2019
    प्लेन में सवार हुए नेता
    12:15 (IST)24 Aug 2019
    कौन कौन जा रहा है

    राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद, केसी वेणुगोपाल और आनंद शर्मा सहित कुल 10 नेता श्रीनगर जा रहे हैं । इन नेताओं का दोपहर के समय श्रीनगर पहुंचने का कार्यक्रम है। सूत्रों के मुताबिक अगर श्रीनगर में दाखिल होने की इजाजत मिली तो राहुल समेत सभी नेता वहां हालात का जायजा लेंगे और स्थानीय नेताओं एवं निवासियों से मुलाकात करेंगे। विपक्षी नेताओं के इस प्रतिनिधिमंडल में माकपा महासचिव सीताराम येचुरी, भाकपा महासचिव डी राजा, लोकतांत्रिक जनता दल के शरद यादव, राजद के मनोज झा, द्रमुक के तिरुचि शिवा, तृणमूल कांग्रेस के दिनेश त्रिवेदी और कुछ अन्य दलों के नेता शामिल होंगे।

    11:58 (IST)24 Aug 2019
    अभी तक किसी नेता को एंट्री नहीं

    अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को हटाने के बाद से सरकार ने अबतक किसी भी सियासतदान को राज्य में आने की इजाजत नहीं दी है। पूर्व मुख्यमंत्रियों, फारूक अब्दुल्ला, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती समेत क्षेत्रीय पार्टियों के नेताओं को नजरबंद किया हुआ है, जबकि कांग्रेस सांसद गुलाम नबी आजाद को दो बार राज्य में प्रवेश करने से रोका गया है। उन्हें एक बार श्रीनगर में और दूसरी बार जम्मू में रोका गया।

    11:57 (IST)24 Aug 2019
    क्या कहना है जम्मू-कश्मीर प्रशासन का

    जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने बयान में कहा कि ऐसे वक्त में जब सरकार राज्य के लोगों को सीमा पार आतंकवाद के खतरे और आतंकवादियों तथा अलगाववादियों के हमलों से बचाने की कोशिश कर रही है और उपद्रवियों तथा शरारती तत्वों को नियंत्रित करके लोक व्यवस्था बहाल करने की कोशिश कर रही है, तब वरिष्ठ राजनेताओं की ओर से आम जनजीवन को धीरे-धीरे पटरी पर लाने में बाधा डालने की कोशिश नहीं होनी चाहिए।

    11:56 (IST)24 Aug 2019
    प्रशासन ने आने से रोका

    जम्मू-कश्मीर सरकार ने शुक्रवार रात बयान जारी कर राजनेताओं से घाटी की यात्रा नहीं करने को कहा था, क्योंकि इससे धीरे-धीरे शांति और आम जनजीवन बहाल करने में बाधा पहुंचेगी। बयान में यह भी कहा गया है कि सियासतदानों की यात्रा पाबंदियों का उल्लंघन करेंगी जो घाटी के कई इलाकों में लगाई गई हैं।

    11:48 (IST)24 Aug 2019
    'गड़बड़ी फैलाने नहीं जा रहे कश्मीर'

    एनसीपी नेता माजिद मेमन ने कहा कि विपक्षी नेताओं के कश्मीर जाने का मकसद व्यवधान पैदा करना नहीं, बल्कि जमीनी हकीकत को जानना है। उनके मुताबिक, नेता यह जानने की कोशिश करेंगे कि घाटी में लोगों को किन दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। मेमन के मुताबिक, वह सरकार का विरोध करने नहीं, बल्कि उनके समर्थन में कश्मीर जा रहे हैं।

    Next Stories
    1 डीयू का नाम ‘वीर सावरकर विश्वविद्यालय’ करवाएंगे हिंदू महासभा नेता! दाऊद इब्राहिम की कार जलाकर सुर्खियां बटोर चुके हैं च्रकपाणि
    2 यूपी: मोदी के ड्रीम प्रोजेक्ट में बड़ा घोटाला! झाड़ियों-गोदामों में छिपाए मिले उज्ज्वला योजना के 6000 सिलेंडर
    3 गुजरात: बीजेपी को उठानी पड़ी शर्मिंदगी, VIDEO में घूस लेते नजर आए पार्टी पार्षद, हुए सस्पेंड