ताज़ा खबर
 

झूठे वादों और कीमती कपड़ों पर राहुल गांधी का निशाना

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कालाधन वापस लाने के जोरशोर से किए गए अपने वादे को पूरा करने में तो वह असफल रहे लेकिन उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा के दौरान दस लाख रुपए मूल्य का सूट पहना। राहुल गांधी ने […]

Author January 30, 2015 8:00 PM
राहुल गांधी की सभा में उन्हें सुनने पहुंचे लोग। (फोटो: जनसत्ता)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि कालाधन वापस लाने के जोरशोर से किए गए अपने वादे को पूरा करने में तो वह असफल रहे लेकिन उन्होंने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की भारत यात्रा के दौरान दस लाख रुपए मूल्य का सूट पहना। राहुल गांधी ने दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान शास्त्री पार्क में चुनावी रैली में मोदी सरकार पर परमाणु करार गतिरोध को सुलझाने में अमेरिका के समक्ष झुकने का भी आरोप लगाया और दावा किया कि परमाणु संयत्र में किसी तरह की दुर्घटना होने के मामले में अमेरिकी कंपनी को मुआवजा नहीं देना पड़ेगा।

रैली को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अरविंदर सिंह, चुनाव अभियान के प्रमुख अजय माकन, सीलमपुर के कांग्रेस उम्मीदवार मतीन अहमद, घोंडा के उम्मीदवार भीष्म शर्मा, मुस्तफाबाद के उम्मीदवार हसन अहमद, हारून यूसुफ समेत कई कांग्रेस उम्मीदवारों ने संबोधित किया।
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था, मैं करोड़ों का कालाधन वापस लाऊंगा, हरेक के खाते में 15 लाख रुपए जमा करूंगा। मैं आप सबसे पूछना चाहता हूं, क्या आपको 15 लाख रुपए मिले? आपको कुछ नहीं मिला। लेकिन मोदी ने ओबामा की यात्रा के दौरान दस लाख रुपए का सूट पहना।
हैदराबाद हाउस में रविवार को ओबामा के साथ बातचीत के दौरान मोदी ने बंद गले का जो सूट पहना था उस पर कढ़ाई के जरिए महीन अक्षरों में प्रधानमंत्री का नाम लिखा था। इसे लेकर सोशल मीडिया में बहस छिड़ गई थी। परमाणु करार पर कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि अगर किसी परमाणु संयत्र में कोई समस्या होती है तो अमेरिकी कंपनी को भुगतान नहीं करना पड़ेगा और भारत सरकार मुआवजे का भुगतान करेगी।

राहुल गांधी ने मोदी पर उनके स्वच्छ भारत अभियान को लेकर भी कटाक्ष किया और कहा कि प्रधानमंत्री महंगाई और रोजगार जैसी समस्या को सुलझाने में सफल नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा कि जब आप रोजगार की मांग करेंगे और महंगाई को कम करने की मांग करेंगे तो वे आपको एक झाडू थमा देंगे और कहेंगे कि भारत को स्वच्छ बनाओ। उन्होंने लोगों से आगामी विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का समर्थन करने की अपील करते हुए आश्चर्य जताया कि भाजपा दिल्ली में क्या बदलाव लाएगी जबकि पार्टी पहले से ही दिल्ली पर शासन कर रही है क्योंकि यहां राष्ट्रपति शासन लागू है।

अरविंद केजरीवाल और किरण बेदी पर अप्रत्यक्ष रूप से निशाना साधते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष ने कहा कि अण्णा हजारे के नेतृत्व में भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन में जरे लोग थे जो अब आप और भाजपा दोनों में हैं, जो सुबह में लोधी पार्क में मिला करते थे और कांग्रेस पर हमला करने की योजना बनाते थे। राहुल ने कहा कि उन्होंने बड़े-बड़े वादे किए थे। कहा था कि अगर जनलोकपाल आया तो भ्रष्टाचार खत्म हो जाएगा। जनलोकपाल आया क्या? भ्रष्टाचार रुक गया? उन्होंने बिजली-पानी की बात की थी। उन्होंने कहा था कि वे बिजली पानी की कीमतों में कमी करेंगे लेकिन क्या उन्होंने किया? उन्होंने भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि उसने अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आई अहम कमी का लाभ जनता को नहीं पहुंचाया। उनका यह भी आरोप था कि जब कभी भी चुनाव होने होते हैं, भाजपा दंगे भड़काती है।

 

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App