ताज़ा खबर
 

मोदी से गले मिले राहुल, AAP बोली- बीजेपी को गले मिलना नहीं, गाली देना है पसंद

शरद यादव ने कहा कि राहुल गांधी बहुत अच्छा बोले और ईमानदारी से बोले। राहुल गांधी तथ्यों के आधार पर और देश के प्रत्येक नागरिक की भावनाओं के अनुसार बोले। मैं लोकसभा में उनकी शानदार स्पीच के लिए उन्हें बधाई देता हूं।

राहुल गांधी पीएम मोदी के गले लगते हुए। (image source-PTI)

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान भाजपा और पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा। अपने भाषण की समाप्ति पर राहुल गांधी ने पीएम मोदी की सीट पर जाकर उन्हें गले भी लगाया, जिसकी चर्चा मीडिया में खूब हो रही है। कई राजनैतिक पार्टियों के नेताओं ने राहुल गांधी के पीएम मोदी से गले लगने की घटना पर अपनी अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि लोकतंत्र के सबसे बड़े मंदिर में जनता की नीतियों को लेकर विरोध होना चाहिए, व्यक्तिगत विरोध नहीं। लेकिन भाजपा को गले मिलना नहीं गाली देना पसंद है। भाजपाई मानसिकता लोकतंत्र के स्वास्थ्य के लिए ठीक नहीं है।

राजद नेता तेजस्वी यादव ने राहुल गांधी की एक तस्वीर के साथ ट्वीट कर लिखा कि क्या आंख मारी है दोस्त! ऐसी जगह हिट किया है, जहां उन्हें सबसे ज्यादा दर्द हुआ है। उनके झूठ का पर्दाफाश करने पर बधाई। बेहतरीन भाषण। बता दें कि तेजस्वी यादव ने राहुल गांधी की आंख मारते हुए तस्वीर शेयर की है, जोकि उन्होंने अपना भाषण पूरा करने के बाद मारी थी, जिसके तस्वीरें फिलहाल सोशल मीडिया पर भी छायी हुई है। शरद यादव ने कहा कि राहुल गांधी बहुत अच्छा बोले और ईमानदारी से बोले। राहुल गांधी तथ्यों के आधार पर और देश के प्रत्येक नागरिक की भावनाओं के अनुसार बोले। मैं लोकसभा में उनकी शानदार स्पीच के लिए उन्हें बधाई देता हूं। देश की जनता का इस सरकार से मन ऊब चुका है और मैं भी उनकी बात का समर्थन करता हूं।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि निश्चल प्रेम की जादू की एक झप्पी, नफरत की आंधी को कैसे रोक सकती है ये राहुल गांधी ने दिखाया। आखिर राहुल जी ने कांग्रेस की मुहब्बत का आईना मोदी जी को दिखा ही दिया। कांग्रेस सांसद राजीव साटव ने कहा कि एक बार राहुल गांधी ने कहा था कि वह जब भी संसद में बोलेंगे तो भूकंप आ जाएगा और यकीनन भूकंप आया। वहीं दूसरी तरफ सामाजिक कार्यकर्ता शहजाद पूनावाला ने राहुल गांधी के भाषण पर तंज भी कसा और अपने ट्वीट में लिखा कि राहुल गांधी का कहना है कि मैं प्यार की भावना निकालूंगा – वो विपक्ष के नेता हैं या एमएसजी बाबा का लव चार्जर? उसके बाद उन्होंने पार्लियामेंट की डिकोरम और संसद के प्रोटोकाल और नियमों की अनदेखी की। बच्चों वाला व्यवहार! उन्हें गंभीरता की कोई समझ नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App