ताज़ा खबर
 

मोदी पर हमला बोलने के चक्कर में सवाल ही भूल गए राहुल गांधी, प्रेस कांफ्रेंस में लगे ठहाके तो छूट गई अखि‍लेश की हंसी

सपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन के बाद राहुल-अखिलेश पहली बार संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस में एक साथ नजर आए।

राहुल गांधी और राहुल गांधी की संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए सपा और कांग्रेस के बीच गठबंधन के बाद राहुल-अखिलेश ने पहली बार संयुक्‍त प्रेस कांफ्रेंस की। प्रेस कांफ्रेंस में एक पत्रकार ने राहुल से सवाल किया जिसका जवाब देने की बजाय राहुल मोदी पर हमला करने लगे और सवाल ही भूल गए। राहुल को कहना पड़ी कि ‘मैं सवाल भूल गया।’ उनके इतना कहते ही उनके पास बैठे अखिलेश यादव की हंसी छूठ गई और प्रेस हॉल में भी सब हंस पड़ें। पत्रकार ने सवाल किया था कि – सपा-कांग्रेस का गठबंधन मुस्लिमों के लिए क्‍या करेगा? सवाल सुनते ही राहुल, मोदी पर हमला करने लगे। वे बोलते-बोलते रुके और कहा- मैं सवाल भूल गया।

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान राहुल गांधी ने कई सवालो को टाल दिया। संघ और भाजपा पर हमला जारी रखते हुए राहुल ने उन्हें फासीवादी करार दिया और कहा कि उनकी नीयत साफ नहीं है जबकि अखिलेश की नीयत सही है और उन्होंने पिछले पांच साल कोशिश भी की। जो अखिलेश की नीयत है वही उनकी (राहुल) नीयत है और ‘राजनीति नीयत पर होती है।’ कांग्रेस के साथ मिलकर 300 से अधिक सीटों पर जीत का दावा करते हुए अखिलेश ने कहा, ‘साइकिल (सपा का चुनाव निशान) के साथ हाथ (कांग्रेस का निशान) हो तो सोचो रफ्तार कितनी होगी। हम दो पहिये हैं। विकास का और खुशहाली का। ये गठबंधन प्रेम और सदभाव बढाने का काम करेगा।’

राहुल की बहन प्रियंका वड्रा और अखिलेश की सांसद पत्नी डिम्पल यादव के चुनाव प्रचार में उतरने के बारे में किये गये प्रश्न पर जहां राहुल ने कहा कि यह प्रियंका पर निर्भर करता है कि वह इस बारे में क्या फैसला करती हैं वहीं अखिलेश ने कहा कि डिम्पल सांसद हैं और वह खुद तय करेंगी कि उन्हें क्या करना है।

राहुल ने प्रधानमंत्री मोदी की शैली में कहा कि हम ‘पीपीपी (प्रोग्रेस, प्रास्पेरिटी और पीस) यानी प्रगति, संपन्नता एवं शांति’ के लिए उत्तर प्रदेश में काम करेंगे। उनके साथ मौजूद अखिलेश ने एक कदम आगे बढते हुए कहा कि वह पीपीपी में एक ‘पी’ और जोडते हैं कि यह गठबंधन ‘पीपुल्स एलायंस’ जनता का गठबंधन बनकर उभरेगा। राहुल ने कहा कि वह नये तरह की राजनीति करना चाहते हैं और युवाओं को विकल्प देना चाहते हैं। सपा के साथ कांग्रेस का गठबंधन ‘अवसरवादी गठबंधन’ नहीं है बल्कि दिल का गठबंधन है।

राहुल गांधी ने कहा, कैप्टन अमरिंदर सिंह ही होंगे पंजाब के अगले सीएम

जब राहुल गांधी ने की नरेंद्र मोदी की मिमिक्री; अमिताभ बच्चन स्टाइल में किया नोटबंदी का ऐलान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App