राहुल गांधी जल्द ही संभालेंगे कांग्रेस की कमान!

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के निकट भविष्य में पार्टी की कमान संभालने की संभावना से आज इंकार नहीं किया। पार्टी के इसी साल होने वाले सम्मेलन में राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष बनने की खबरों के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा, ‘‘देखते हैं।’’ उन्होंने यहां संवाददताओं से कहा […]

Digvijaya Singh, Rahul Gandhi, Congress, Land Bill, NDA Govt, Giriraj Singh, India News
दिग्विजय सिंह ने कहा, ‘‘अच्छे दिन सिर्फ मोदी और अमित शाह के लिए आए हैं।’’

कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के निकट भविष्य में पार्टी की कमान संभालने की संभावना से आज इंकार नहीं किया। पार्टी के इसी साल होने वाले सम्मेलन में राहुल के कांग्रेस अध्यक्ष बनने की खबरों के बारे में पूछे जाने पर सिंह ने कहा, ‘‘देखते हैं।’’

उन्होंने यहां संवाददताओं से कहा कि भूमि विधेयक के खिलाफ 19 अप्रैल को दिल्ली में कांग्रेस द्वारा आयोजित किसानों की रैली में सोनिया गांधी के नेतृत्व में अन्य नेताओं के साथ राहुल गांधी भी शामिल होंगे।

संसद के बजट सत्र से राहुल गांधी के दूर रहने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कोई सीधा जवाब नहीं दिया और कहा, ‘‘हम में से सभी, उनके सैनिक यहां मौजूद हैं।’’ उन्होंने कहा कि कांग्रेस उपाध्यक्ष पार्टी के नेता हैं और वह बने रहेंगे।

सोनिया गांधी के बारे में केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह के बयान की निंदा करते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस न सिर्फ मंत्री द्वारा सावर्जनिक माफी मांगे जाने की मांग करती है बल्कि वह उन्हें कैबिनेट से हटाए जाने की भी मांग करती है।

सिंह ने कहा, ‘‘लेकिन, श्री (नरेंद्र) मोदी को जानते हुए, वह न सिर्फ उन्हें कैबिनेट में बनाए रखेंगे, बल्कि हमें आश्चर्य नहीं होगा अगर वह उन्हें प्रोन्नति देते हैं।

केंद्रीय मंत्री द्वारा बाद में अपने बयान पर खेद जताए जाने पर कांग्रेस नेता ने कहा कि गिरिराज सिंह ने पिछले साल आम चुनावों के पहले भी विवादित बयान दिया था कि जो मोदी के विरोधी हैं, उन्हें पाकिस्तान चले जाना चाहिए।

कांग्रेस द्वारा भूमि अधिग्रहण विधेयक का विरोध किए जाने की चर्चा करते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि राजग सरकार अब पार्टियों के साथ चर्चा करने के लिए तैयार है। सिंह ने कहा, ‘‘अगर वह अभी बातचीत के लिए तैयार हैं, तो उन्होंने अध्यादेश जारी करने के पहले क्यों नहीं विचार विमर्श किया।’’

उन्होंने आरोप लगाया कि राजग सरकार 100 दिनों में काला धन वापस लाने और किसानों की समस्याओं पर ध्यान देने जैसे चुनावी वादों को पूरा करने में नाकाम रही है। उन्होंने कहा, ‘‘अच्छे दिन सिर्फ मोदी और अमित शाह के लिए आए हैं।’’

सिंह ने आरोप लगाया कि राजग सरकार से उम्मीद थी कि वह पाकिस्तान और आतंकवादियों के खिलाफ सख्त रुख अपनाएगी। लेकिन ऐसा नहीं दिखा है।

जम्मू कश्मीर में भाजपा-पीडीपी सरकार की चर्चा करते हुए सिंह ने दावा किया कि जो पाकिस्तान के समर्थन में बयान दे रहे थे, वे अब भाजपा की सहयोगी हैं।

सिंह आंध्र प्रदेश और तेलंगाना के प्रभारी हैं। उन्होंने दोनों राज्यों के पार्टी नेताओं से मुलाकात की। उन्होंने आरोप लगाया कि टीआरएस सरकार ने तेलंगाना में अपने चुनावी वादों को पूरा नहीं किया है। उन्होंने इस क्रम में अनुसूचित जाति और जनजाति के लोगों के लिए तीन एकड़ भूमि और घर देने जैसे वादों का जिक्र किया।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की ‘‘वाटर ग्रिड’’ परियोजना में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। ‘‘…. मैं देखता हूं कि तेलंगाना में वाटर ग्रिड योजना के मामले में एक बड़ा घोटाला आकार ले रहा है।’’

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू पर निशाना साधते हुए सिंह ने आरोप लगाया कि वह तेलंगाना में अलग राज्य बनाने का श्रेय लेने का दावा करते हैं और आंध्र प्रदेश में राज्य को विभाजित करने के लिए कांग्रेस पर दोष मढ़ते हैं।