Rahul Gandhi challenges PM Modi to be present in Parliament to face questions, Sambit Patra Says Someone who can not write two lines without looking at mobile wants to speak for 15 minutes - बीजेपी का राहुल गांधी पर पलटवार: बिना देखे दो लाइन लिख सकते नहीं और... - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बीजेपी का राहुल गांधी पर पलटवार: बिना देखे दो लाइन लिख सकते नहीं और…

संसद में सवाल उठाए जाने के वक्त मौजूद रहने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ललकारने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने पलटवार किया है। संबित पात्रा ने एक समाचार चैनल से कहा- ''एक आदमी जो मोबाइल देखे बिना दो लाइन नहीं लिख सकता...

(फोटो- पीटीआई)

संसद में सवाल उठाए जाने के वक्त मौजूद रहने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ललकारने वाले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के प्रवक्ता संबित पात्रा ने पलटवार किया है। संबित पात्रा ने एक समाचार चैनल से कहा- ”एक आदमी जो मोबाइल देखे बिना दो लाइन नहीं लिख सकता है वह 15 मिनट तक बोलना चाहता है।” राहुल गांधी के ‘संविधान बचाओ अभियान’ के जवाब में बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने पूरे गांधी परिवार को लपेटे में लिया। संबित पात्रा ने कहा- ”इस परिवार की हमेशा स्वामित्व की भावना रही है। नेहरू प्रधानमंत्री बनना चाहते थे और बंटवारे के लिए राजी हो गए। इंदिरा ने आपातकाल थोपा। राजीव गांधी ने सत्ता में बने रहने के लिए सिख दंगों को अनुमति दी। सोनिया और राहुल देश के किसी भी संस्थान को नहीं छोड़ रहे हैं।” बता दें कि राहुल गांधी ने सोमवार (23 अप्रैल) को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम से संविधान बचाओ अभियान की शुरुआत की। कार्यक्रम में उनके निशाने पर एकबार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रहे।

गांधी ने प्रधानमंत्री को संसद में उनके द्वारा सवाल उठाए जाने के दौरान वहां मौजूद रहने की चुनौती दी। राहुल गांधी ने कहा- ”मोदी संसद में खड़े होने से घबराते हैं। मेरा 15 मिनट का भाषण वहां करा दो राफेल और नीरव पर बात करूंगा। मैं कहता हूं कि इसके बाद मोदी वहां खड़े नहीं हो पाएंगे। नीरव मोदी 30 हजार करोड़ रुपये लेकर भाग गया। उनके मित्र एक शब्द नहीं कहते हैं। पहली बार सरकार ने संसद को रोक दिया। लोग कहते हैं विपक्ष संसद नहीं चलने देती है। प्रेस को दबाया जा रहा है।”

राहुल गांधी ने मंच से 70 साल में देश की बनाई प्रतिष्ठा को धूमिल करने का आरोप मोदी सरकार पर लगाया और कहा- ”70 साल से हम संविधान की रक्षा कर रहे हैं और आगे भी करेंगे।” राहुल गांधी ने मोदी सरकार को दलित विरोधी बताया। इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री की किताब ‘कर्मयोगी बाइ नरेंद्र मोदी’ के अंश को कोट किया। उन्होंने कहा- ‘पीएम ने अपनी किताब में लिखा है कि वाल्मिकी समाज का व्यक्ति जो काम करते हैं वे पेट भरने के लिए नहीं करते हैं। अगर वे यह काम सिर्फ पेट भरने के लिए करते तो इसे सालोंभर नहीं करते। वे ये काम अध्यात्म के लिए करते हैं।’ राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर सुप्रीम कोर्ट को कुचलने और रेप के मामलों में चुप्पी साधने के आरोप लगाए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App